नयी दिल्ली,  एजुकेशन सोसाइटी फॉर इंडिया ने उच्च शिक्षा से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) हटाने की मांग की है और कहा है कि अगर इसे हटाया नहीं गया तो छात्रों के लिए शिक्षा बहुत महंगी हो जायेगी और गरीब तबके के लोग इससे वंचित हो जायेंगे।

सोसाइटी ने आज यहाँ उच्च शिक्षा की चुनौतियाँ और जीएसटी विषय पर आयोजित सम्मेल्लन में यह मांग की।सम्मलेन का उद्घाटन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उपाध्यक्ष एवं राज्यसभा के सदस्य डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे ने की।

Related Posts: