08modiनई दिल्ली, भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर उद्योगजगत की हस्तियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंगलवार को आयोजित बैठक खत्म हो चुकी है. पीएम ने बैठक के दौरान इस बात पर जोर दिया कि चीन की अर्थव्यवस्था में आई कमजोरी भारत के लिए कई तरह के अवसरों के द्वार खोल सकती है. मोदी ने कहा कि यह मौका है और उद्योग जगत को जोखिम उठाते हुए निवेश करने की जरूरत है.

प्रधानमंत्री आवास में नामी उद्योगपतियों की मौजूदगी में हुई इस बैठक का मकसद दुनिया के आर्थिक हालात के मद्देनजर भारत की स्थिति पर नजर रखना था. देश की अर्थव्यवस्था को किस तरह से तेज विकास की पटरी पर फिर से लाया जाए, इसको लेकर भी बैठक में विचार विमर्श किया गया. सीआईआई के अध्यक्ष सुमित मजूमदार ने बैठक के बाद कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्योग से कहा कि वे जोखिम लें और निवेश करें. उन्होंने कहा कि हमें एग्री-इंफ्रास्ट्रक्चर, कोल्ड स्टोरेज और इस ओर खरीद पर जोर देने की जरूरत है.

कैबिनेट मंत्रियों, सरकार और रिजर्व बैंक के शीर्ष अधिकारियों, प्रमुख बैंकरों, जाने माने अर्थशास्त्री और अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञों सहित 40 से अधिक प्रतिनिधि इस बैठक में भाग लेने के लिए पहुंचे. पीएम मोदी ने बैठक के दौरान उद्योग जगत से स्किल डवलपमेंट और नए रोजगार सृजन करने के लिए कहा.

Related Posts: