लखनऊ,

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बलात्कार और हत्या के मामले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत अन्य आरोपियों पर केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) का शिकंजा तेजी से कसता जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक सीबीआई अधिकारियाें को पीडिता को विधायक से मिलवाने ले गयी शशि सिंह से अहम जानकारी हासिल हुयी है वहीं पीडिता के कलमबंद बयान से आने वाले दिनो में सेंगर की मुसीबत बढ सकती है। मामले में विधायक की संलिप्तता को पुख्ता करने के लिये सीबीआई उनका नार्को टेस्ट भी करा सकती है। जांच एजेंसी ने पीडिता को बहला फुसला कर ले जाने के मामले में कल चौथी एफआइआर दर्ज की थी।

उन्होने बताया कि किशोरी के कलमबंद बयान दर्ज कराने के बाद अब सीबीआइ विधायक व शशि सिंह से उसका सामना कराएगी। सीबीआई का शिकंजा सामूहिक दुष्कर्म के आरोपितों पर जल्द कसेगा और उनका भी सामना विधायक से कराया जाएगा।

मामले की गुत्थी सुलझाने में जुटी सीबीआई ने माखी थाने में मौजूद अहम दस्तावेजों को अपने कब्जे में लेकर खंगालना शुरू कर दिया है वहीं पीडिता के पिता की हत्या को लेकर पुलिसकर्मी, कारागार कर्मी, डाक्टर और विधायक के गुर्गे सीबीआई के राडार पर हैं।

Related Posts: