omarश्रीनगर,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जम्मू.कश्मीर में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति के संबंध में बुलाई गई बैठक में राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के शामिल नहीं होने को लेकर मुख्य विपक्षी नेशनल कांफ्रेंस के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने उनकी(सुश्री महबूबा) आलोचना करते हुए आज कहा कि वह कम से कम वीडियो कांफ्रेंस के जरिए इसमें शामिल हो सकती थी।

श्री अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री के विदेश यात्रा से आज लौटने के बाद जम्मू.कश्मीर में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति को लेकर नयी दिल्ली में एक बैठक बुलाये जाने के संबंध में यह प्रतिक्रिया व्यक्त की। श्री अब्दुल्ला ने ट्विट किया, “ मैं समझता हूं कि अगर सुश्री महबूबा बैठक में शामिल होने राज्य को छोडकर नहीं जा सकती थी लेकिन वह वीडियो कांफ्रेंस के जरिये इसमें शामिल हो सकती थी। बैठक में राज्य का प्रतिनिधित्व नहीं हुआ। ”

Related Posts: