andersonसैन फ्रांसिसको,  सोशल साइट फेसबुक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के सदस्य मार्क एंडरसन ने फ्री बेसिक्स को लेकर की गई अपनी टिप्पणी के लिए भारत से माफी मांगी है.

भारत के खिलाफ टिप्पणी की चारों तरफ से आलोचना होने के कारण श्री एंडरसन ने अपना या ट्वीट हटा लिया और माफी मांगते हुए कल 8 ट्वीट किए हैं.

उन्होंने कहा, मैं अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगता हूं तथा अपने शब्दों को वापस लेता हूं. भविष्य में इन विषयों पर टिप्पणी नहीं करूंगा क्योंकि लोग मुझसे अधिक जानकारी तथा अनुभव रखते हैं. टेलीकॉम सेक्टर के नियामक ट्राई के फ्री-बेसिक्स पर रोक लगाने के बाद फेसबुक ने निराशा जताई थी. इसके बाद एंडरसन ने कहा था कि इंटरनेट टैरिफ को लेकर भारत का फैसला सही नहीं है और ये देश ब्रिटिश शासन के ही अधीन होता तो इसकी हालत ज्यादा बेहतर होती.

मार्क एंडरसन ने ट्वीट किया था कि उपनिवेशवाद विरोध के चलते तो भारतीयों को दशकों तक आर्थिक नुकसान हुए हैं. तो अब इसे क्यों रोका जा रहा है? फेसबुक के प्रमुख मार्क जुकरबर्ग ने कल एंडरसन की ओर से की गई टिप्पणी की निंदा की थी. उन्होंने कहा कि एंडरसन की टिप्पणी से बेहद हैरान हूं. इस तरह की टिप्पणी के लिए फेसबुक में कोई जगह नहीं है.

Related Posts: