pic3देहरादून,  अपने बागी विधायकों की वजह से मुसीबत में आई उत्तराखंड कांग्रेस सरकार ने एक बार फिर बागी विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की है.
रविवार को राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत के निर्देश पर कांग्रेस के बागी विधायक हरक सिंह रावत के विधानसभा स्थित दफ्तर को बंद कर दिया गया.

एक रिपोर्ट के मुताबिक, हरक सिंह के दफ्तर को बंद करने से पहले फाइलों की जांच की गई और उनके दफ्तर की पूरी तलाशी ली गई. इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने कांग्रेस के सभी 9 बागी विधायकों को उनकी सदस्यता समाप्त करने को लेकर नोटिस जारी किया था.

दूसरी तरफ, मुख्य विपक्षी दल बीजेपी ने दावा किया कि कांग्रेस के बागी विधायकों समेत बीजेपी के समर्थन वाले 35 विधायकों ने अध्यक्ष कुंजवाल द्वारा विधानसभा में निष्पक्ष आचरण न किये जाने पर उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दे दिया है. कुंजवाल ने बताया कि विधानसभा में कांग्रेस की मुख्य सचेतक डॉ. इंदिरा हृदयेश की ओर से पार्टी के नौ बागी विधायकों पर व्हिप के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर उन्हें पत्र लिखा गया है.

Related Posts: