ramdasमुंबई,  हर नेता की चाहत होती है कि वह भी एक दिन गद्दी पर बैठे. रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया-आठवले ( क्रक्कढ्ढ-्र) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं संसद सदस्य रामदास आठवले को बुधवार को एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बनने का मौका मिल गया. यह और बात है कि यह मौका उन्हें सिनेमा के पर्दे पर मिला है.

शिवाजी दोलताडे के निर्देशन में बन रही फिल्म कन्यारत्न के लिए फिल्म सिटी के प्रांगण में बने मंच पर उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में बड़ा भावनात्मक भाषण दिया और कन्या रत्न को अनमोल रत्न और देश का भविष्य बताया.

पहला ही शॉट ओके होने पर दर्शकों की तालियां मिलने के बाद आठवले ने सिर झुका कर सबको धन्यवाद दिया. उन्होंने एक खास मुलाकात में कहा, यह फिल्म चूंकि कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ है इसलिए जैसे ही ऐक्टिंग का यह ऑफर मिला, मैंने फौरन हां कर दी. हालांकि मुख्यमंत्री की भूमिका निभाने में थोड़ी हिचक हो रही थी, लेकिन ऐक्टिंग तो ऐक्टिंग है.

Related Posts:

खुर्शीद का यू-टर्न
राजभाषा पुरस्कारों से इंदिरा और राजीव के नाम हटाए
सियासत में उलझी वन रैंक, वन पेंशन
दुर्घटना में हेमा घायल, अल्टो से भिड़ी मर्सडीज, बच्ची की मौत, 4 घायल
पांच दिवसीय विदेश यात्रा के बाद प्रधानमंत्री मोदी स्वदेश पहुंचे
अमिताभ का दावा निकला झूठा : पनामा पेपर्स लीक मामले में नया खुलासा, मीटिंग में जा...