आज ज्वाइन कर सकते हैं एनएलआईयू के डायरेक्टर सिंह,

विद्यार्थियों ने दी आंदोलन की चेतावनी

नवभारत न्यूज भोपाल,

नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर प्रो. एसएस सिंह सोमवार को ऑफिस जॉइन कर सकते हैं. उनका एक माह का अवकाश रविवार को पूरा हो गया. उनके कार्यालय आने से फिर विवाद शुरू होने के आसार हैं क्योंकि विद्यार्थियों ने भी फिर से आंदोलन छेडऩे की बात दोहराई है.

विद्यार्थियों का कहना है कि वे प्रो. सिंह को एनएलआइयू के डायरेक्टर के रूप में स्वीकार नहीं करेंगे. एक विद्यार्थी ने कहा कि हमारा पक्ष साफ है. अभी जांच चल रही है. जांच समिति को अपनी रिपोर्ट जमा करने दीजिए.

लेकिन इसके बाद भी वे डायरेक्टर बने रहते हैं तो हम अपना विरोध जारी रखेंगे. विद्यार्थियों का कहना है कि उनकी परीक्षाएं चल रही हैं और यदि प्रो. सिंह लौटते हैं तो 22 दिसंबर के बाद विद्यार्थी फिर से हड़ताल शुरू कर देंगे.

ज्ञातव्य हो कि इस विरोध के कारण डायरेक्टर प्रो. सिंह 17 नवंबर को एक माह के लंबे अवकाश पर चले गए थे. इसके पहले नवंबर के पहले सप्ताह में एनएलआइयू के विद्यार्थियों ने कुछ शिक्षकों व प्रशासनिक अधिकारियों पर अश£ीन टिप्पणियों करने का आरोप लगाते हुए कक्षाओं का बहिष्कार शुरू कर दिया था.

विरोध प्रदर्शनों के दौरान एक छात्रा ने अपने पोस्टर में यह भी लिखा था कि आप मुझे वेश्या नहीं कह सकते और 10 नवंबर को इस संबंध में शिकायत भी की गई थी. इसके कुछ दिनों बाद अश£ील टिप्पणियों का विवाद उस समय और गहरा गया जब राष्ट्रीय महिला आयोग ने प्रो. सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी.

एनएलआइयू के विद्यार्थियों का एक सप्ताह चला विरोध उस समय शांत हुआ जब मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश हेमंत गुप्ता ने मामले में हस्तक्षेप किया.

उन्होंने नए निदेशक की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश देते हुए कानून के विद्यार्थियों के द्वारा लगाए जा रहे आरोपों की जांच हेतु एक जांच समिति बना दी थी. इसके अलावा उन्होंने अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश गिरीबाला सिंह को रजिस्ट्रार नियुक्त किया था.