omarश्रीनगर,  जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) सरकार पर एनक्रिप्शन नीति के बारे में यू टर्न लेने पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार ने इस मामले पर प्रधानमंत्री के सिलीकॉन वैली के आगामी दौरे के मद्देनजर अपने कदम पीछे खींचे है न कि स्थानीय स्तर पर हो विरोध की वजह से ऐसा किया है।

श्री अब्दुल्ला का यह बयान मैसेज चैट एप्लिकेशन व्हाट्स एप और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया पर संदेश भेजने से जुड़ी एनक्रिप्शन नीति के मसौदे पर छिड़े विवाद के बाद केन्द्र सरकार द्वारा इसे वापस लेने के बाद आया है। गौरतलब है कि इस नीति के मसौदे में मैसेजिंग सेवा से भेजे जाने वाले संदेशों को 90 दिन तक सुरक्षित रखने की सिफारिश की गयी थी।

Related Posts: