RBI1मुंबई,  रिजर्व बैंक (आरबीआई) के नवनियुक्त डिप्टी गवर्नर एन.एस. विश्वनाथन ने आज कार्यभार सँभाल लिया। केंद्रीय बैंक ने इसके मद्देनजर नये सिरे से डिप्टी गवर्नरों की जिम्मेदारियों का आवंटन किया है। सरकार ने 29 जून को तीन साल के लिए या अगले आदेश तक उन्हें इस पद पर नियुक्त किया था।

उन्हें 04 जुलाई को या इससे पहले पदभार ग्रहण करना था। डिप्टी गवर्नर बनाये जाने से पहले वह आरबीआई में कार्यकारी निदेशक के पद पर थे। पूर्व डिप्टी गवर्नर एच.आर. खान की सेवानिवृत्ति के बाद श्री विश्वनाथन को पदोन्नत किया गया है। केंद्रीय बैंक ने बताया कि उन्हें बैंकिंग नियमन, को-आॅपरेटिव बैंकिंग नियमन, गैर-बैंकिंग नियमन, जमा बीमा एवं क्रेडिट गारंटी निगम, निरीक्षण, जोखिम निगरानी तथा सचिव के विभाग और वित्तीय स्थिरता इकाई का प्रभार सौंपा गया है। ये विभाग पहले श्री आर. गाँधी के पास थे।

श्री आर. गाँधी को वित्तीय बाजार एवं अवसंरचना से संबद्ध विभागों का प्रभार दिया गया है जो पहले श्री खान के पास थे। अन्य डिप्टी गवर्नरों में डॉ. उर्जित पटेल पहले की तरह मौद्रिक नीति एवं अनुसंधान तथा श्री एस.एस. मुंद्रा निरीक्षण एवं समावेशन से जुड़े विभागों के प्रमुख बने रहेंगे। श्री विश्वनाथन वर्ष 1981 में आरबीआई से जुड़े थे। वह केंद्रीय बैंक के चेन्नई क्षेत्रीय कार्यालय के प्रमुख का कार्यभार भी सँभाल चुके हैं। 27 जून 1958 को जन्मे श्री विश्वनाथन ने बेंगलोर विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर डिग्री हासिल की थी।

Related Posts: