hockeyलंदन,   एफआईएच चैंपियंस ट्राफी हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में पहली बार जगह बनाने वाली भारतीय पुरूष टीम को विवादास्पद शूटआउट में विश्व चैंपियन आस्ट्रेलिया के हाथों 1-3 से पराजय झेलनी पड़ी और अपने पहले रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत और आस्ट्रेलिया ने चैंपियंस ट्राफी के खिताबी मुकाबले में एक दूसरे को कड़ी टक्कर देने में कोई कसर बाकी नहीं रखी और मैच निर्धारित समय में 0-0 से बराबर रहा।

भारत ने दूसरे हाफ में गजब का प्रदर्शन किया और तीसरे और चौथे क्वार्टर में विश्व की नंबर एक टीम के पसीने छुटा दिये। लेकिन भारत का दुर्भाग्य रहा कि उसे विजयी गोल नहीं मिल पाया। मैच के फैसले के लिये पेनल्टी शूटआउट का सहारा लिया गया। यहां आस्ट्रेलिया के दूसरे प्रयास पर विवाद भी हुआ। दरअसल भारतीय गोलकीपर पी आर श्रीजेश ने आस्ट्रेलिया के दूसरे प्रयास को रेाक लिया था और गेंद उसके पैरों के बीच फंस गई थी। आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने इस पर विरोध जताते हुये रेफरल मांगा और वीडियो अंपायर ने रिप्ले देखने के बाद दूसरा प्रयास फिर से लेने का निर्णय लिया जिसपर आस्ट्रेलिया ने गोल कर शूटआउट में 2-0 की बढ़त बना ली।