नयी दिल्ली,

‘पतंजलि’ के संरक्षक बाबा रामदेव ने आज कहा कि वह देश में किसी भी तरह के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के खिलाफ हैं।

बाबा रामदेव ने अमेरिकी कंपनी अमेजन सहित आठ ई-रिटेलरों के साथ उनके प्लेटफॉर्म पर पतंजलि के उत्पादों की बिक्री के लिए करार के मौके पर आज यहां संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।उनका यह बयान ऐसे समय आया है जब सरकार ने पिछले सप्ताह ही एकल ब्रांड खुदरा स्टोरों के लिए ऑटोमेटेड मार्ग से शत-प्रतिशत एफडीआई की मंजूरी दी है।मोदी सरकार के सत्ता में आने से पहले वह एफडीआई के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के साथ खड़े थे।

एफडीआई पर उनकी राय पूछने पर बाबा रामदेव ने कहा “मेरा मत एफडीआई के खिलाफ है, लेकिन अभी मैं इस विषय में ज्यादा बोलकर कोई राजनीतिक पंगा नहीं लेना चाहता।” एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि उन्हें विदेशी प्रौद्योगिकी, विज्ञान या मशीनरी अपनाने में कोई आपत्ति नहीं है।पतंजलि की प्रयोगशालाओं तथा संयंत्रों में भी इनका उपयोग किया जाता है।

इस संदर्भ में अमेजन के साथ करार के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कोई सीधा उत्तर नहीं दिया लेकिन कहा “पतंजलि किसी भी कीमत पर विदेशी कंपनी के साथ पार्टनरशिप नहीं करेगी।” उन्होंने स्पष्ट किया कि यदि कोई विदेशी कंपनी कर्ज के तौर पर पतंजलि को वित्तीय मदद देना चाहे तो उसमें उन्हें कोई आपत्ति नहीं होगी।

Related Posts: