mp2इटारसी,  यात्री ट्रेनों में चोरी करने वाले एक शातिर बदमाश को जीआरपी ने गिरफ्तार कर ग्वालियर सहित अन्य स्टेशनों पर हुई चोरी की वारदातों का खुलासा किया.

पुलिस ने आरोपी के पास से लगभग 1 करोड़ रूपए का माल बरामद किया जा चुका है. आरोपी के तार इटारसी से जुड़े होने की जानकारी लगने के बाद जीआरपी पुलिस उसे पूछताछ के लिए इटारसी लेकर आई, जहां उसने 2 वर्ष पूर्व दो ट्रेनों में चोरी की वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया.

ग्वालियर जीआरपी ने मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर ग्वालियर निवासी अश्विनी उर्फ रिंकू श्रीवास्तव को गिरफ्तार किया था. पूछताछ के दौरान आरोपी ने विभिन्न ट्रेनों में लगभग 37 चोरियां करना स्वीकार किया है. पुलिस ने उसके पास से 2 किलो सोना, 17 लाख रूपए नगदी बरामद कर उसे जेल भेज दिया था. मामले की जानकारी लगने के बाद तीन दिन पूर्व जीआरपी पुलिस ग्वालियर पहुंची और उसे पूछताछ के लिए रिमांड पर अपने साथ लेकर आई. यहां उसने दो वर्ष पूर्व दो ट्रेनों में चोरी की वारदात का अंजाम देना स्वीकार किया है.

जीआरपी की गिरफ्त में आया अश्विनी श्रीवास्तव पढ़ाई में अव्वल है. पूना से एमबीए और आईटी की डिग्री लेने के बाद वह ग्वालियर में अपना स्वयं का व्यवसाय करना चाहता था. इसके लिए उसे पैसों की आवश्यकता थी. पिता के नेवी से सेवानिवृत्त होने और पत्नी के कालेज में प्रोफेसर होने के बावजूद उसने परिजनों से मदद मांगने के बजाए पैसे कमाने के लिए अपने भांजें के साथ मिलकर चोरी करने का तरीका अपनाया. बताया जाता है कि आरोपी ग्वालियर स्टेशन पर अपनी गाड़ी खड़ी करता था और आने वाली गाडिय़ों के एसी कोच में जाकर शूटकेस चोरी कर अपनी गाड़ी में रख देता था. बताया जाता है कि वह प्रतिदिन एक दर्जन से अधिक शूटकेस चोरी करता था. इसके अलावा वह एसी कोच में यात्रा करते हुए भी वारदात को अंजाम देता था.

Related Posts: