नवभारत न्यूज भोपाल,

एक युवक को अपने आप को देश के प्रतिष्ठित हॉस्पिटल एम्स का चिकित्सक बताना महंगा पड़ा.
महिला पॉलीटेक्निक कॉलेज के प्राचार्य को शक हुआ तो उन्होंने उसे बिठाकर उसी के सामने एम्स में पदस्थ चिकित्सकों की सूची खंगाली तो मामला सामने आ गया.

हबीबगंज पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया है. युवक बीए पास है. फिलहाल पुलिस यह जानने में जुटी है कि आरोपी ने इस तरह और कितनी घटनाओं को अंजाम दिया है. पुलिस ने आरोपी के विरूद्ध धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है.

हबीबगंज पुलिस के मुताबिक महिला पॉलीटेक्निक कॉलेज के प्राचार्य केबी राव ने बताया कि एक युवक को खुद को एम्स हॉस्पिटल में मनोचिकित्सक के पद पर पदस्थ होने की बात कहकर प्रजेंटेशन दे रहा है, तथा कुछ प्रोडक्ट छात्राओं को बेचना चाह रहा है.

सूचना मिलते ही पुलिस वहां पर पहुंच गई तथा युवक को हिरासत में लिया. ययुक का नाम गौरव के अनेजा पिता अनरनाथ अनेजा उम्र 37 वर्ष लुधियाना का रहने वाला है.

पुलिस ने इसके पास से तेल की सीसियां व इंफ्रा रेड मशीन प्रोडक्ट सहित बेचे गए कुल कीमत 37 हजार 600 रुपए जब्त किए. इसके साथ ही पुलिस ने उसके पास से एनजीओ के एसोसिएट्स बनने के 17 फार्म व दो चैक कुल 4600 रुपए के जब्त किए. पुलिस को पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह एम्स का चिकित्सक होने की बात का झांसा देकर लोगों से ठगी करता था.

शक हुआ तो ली जानकारी

प्राचार्य ने बताया कि जैसे ही उक्त युवक ने कहा कि वह एम्स में पदस्थ है, लेकिन उसकी बोलचाल की बात से शक हुआ तो फिर उससे ज्यादा बात की तो वह टूट गया. इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी और आरोपी को पुलिस ने दबोच लिया. इतना ही नहीं युवक अपने आप को डॉक्टर दिखाने के लिए काफी मंहगे कपड़े भी पहने हुए था.

Related Posts: