उन्नत पावर इलेक्ट्रॉनिक्स ड्राइवर्स पर होगा शोध

भोपाल, सागर इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी-सिस्टेक की प्रिंसिपल डॉ. पल्लवी भटनागर को ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार ने 18.15 लाख रुपये का अनुसंधान अनुदान प्रदान किया है.

यह अनुदान एलईडी बल्ब के लिए उन्नत पावर इलेक्ट्रॉनिक्स ड्राइवर्स पर शोध के लिए है. नेशनल पर्सपेक्टिव प्लान के अंतर्गत इस प्रोजेक्ट के लिए देश भर से कई कॉलेजों और शोध संस्थानों ने सेंट्रल पावर रिसर्च इंस्टिट्यूट, बैंगलुरु में आवेदन किया था. प्रोजेक्ट की अवधि दो साल है और सिस्टेक के ही

डॉ. केके गुप्ता को-इन्वेस्टिगेटर हैं. इस सन्दर्भ में सिस्टेक और सेंट्रल पावर रिसर्च इंस्टिट्यूट, बैंगलुरु के बीच एमओयू साइन किया गया है.

सागर समूह के अध्यक्ष, सुधीर कुमार अग्रवाल ने इस उपलब्धि पर बधाई दी और कहा की भोपाल के अन्य संस्थान भी जल्द उच्च गुणवत्ता वाले अनुसंधान परियोजनाओं में योगदान देंगे जिससे हमारे राष्ट्र का विकास हो सकेगा. पवन ग्रोवर कार्यकारी निदेशक ने टीम को उनके प्रयासों और उपलब्धि के लिए बधाई दी.

Related Posts: