22as2भोपाल,22 मई,नभासं. राजधानी में एसिड अटेक की घटना के संबंध में स्टेशन बजरिया, अशोका गार्डन और ऐशबाग पुलिस थानों की कार्यप्रणाली की जाँच के आदेश दिए गए हैं. ये जांच आई.जी. भोपाल को सौंपी गई है.

जिन्होंने तुरंत जाँच शुरू कर दी है. अब तक प्रथम दृष्ट्या लापरवाही के चलते दो पुलिसकर्मी निलंबित कर दिये गये हैं. उधर, एसिड अटैक की घटना के सामने आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निजी चिकित्सालय पहुँचकर घायल युवती को देखा. उन्होंने उसकी चिकित्सा की सभी व्यवस्थाएं कराने को कहा है.

गौर भी पहुंचे- गृह एवं जेल मंत्री बाबूलाल गौर शंकराचार्य नगर निवासी युवती को एक निजी चिकित्सालय में युवती और उसकी माँ से मुलाकात कर स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की. उन्होंने चिकित्सकों से पीडि़ता का उपचार बेहतर ढंग से करने और सरकार द्वारा सहायता देने की बात कही.गौर ने कहा कि आई.जी. भोपाल को तीन थानों के अधिकारी-कर्मचारियों, जिनके द्वारा बरती गयी लापरवाही की शिकायत पीडि़ता और उसकी माँ ने की है, की जाँच के आदेश दिये हैं.इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल निवासी एसिड अटेक की शिकार युवती सुश्री रेखा के उपचार के निर्देश संबंधित अधिकारी और अस्पताल प्रबंधन को दिए हैं.

Related Posts: