gopal_raiनयी दिल्ली,  राजधानी दिल्ली में प्रदूषण घटाने और यातायात से जुड़ी परेशानियों को कम करने के प्रयासों के तहत अगले साल पहली जनवरी से यहां निजी गाड़ियों के लिए लागू होने जा रहे ऑड- इवन फार्मूला के मद्देनजर राज्य सरकार ने आज कहा कि इसके लिये 6000 निजी बसों की चार दिन की पंजीकरण प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जायेगी।

यहां संवाददाताओं को संबोधित करते हुये राज्य के परिवहन मंत्री गोपाल राय ने कहा इस योजना के तहत छह हजार बसे हैं जिनमें दो हजार स्कूल बसें भी शामिल हैं। श्री राय ने कहा कि अगले वर्ष की शुरुआत से शुरू होने से पहले ‘डीटीसी पर्यावरण बस सेवा’ का इसी महीने 27 दिसंबर को ट्रायल भी किया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली सरकार ने राजधानी में खतरनाक स्तर पर पहुंच चुके प्रदूषण का हवाला देते हुए यह फार्मूला लागू करने का निर्णय लिया है। इसके मुताबिक राजधानी में एक दिन सम नंबर वाली और एक दिन विषम नंबर वाली गाड़ियां चल पाएंगी। यह व्यवस्था सुबह आठ बजे से लेकर शाम आठ बजे तक के लिए होगी। सार्वजनिक और व्यावसायिक वाहनों तथा महिलाओं को सम- विषम फार्मूले से छूट दी गई है।

सरकार का कहना है कि यह शुरुआती प्रयोग है, सफल रहा तो इसे स्थायी तौर पर लागू कर दिया जाएगा। इसके लिए दिल्ली मोटर वाहन नियम में बदलाव भी किए जाएंगे। नया नियम बनते ही आॅड- ईवन फॉर्मूले का उल्लंघन करने वालों को दो हजार रुपये या इससे भी ज्यादा का जुर्माना भरना पड़ सकता है।
सरकार ने गत चार दिसंबर को घोषणा करते हुये कहा था कि दिल्ली में फार्मूले के पहले चरण के अंतर्गत छह हजार अतिरिक्त बसें चलाएगी, ऑटो रिक्शा की उपलब्धता बढाई जाएगी और मेट्रो से सर्वाधिक क्षमता के साथ सेवाएं देने का अनुरोध किया जाएगा। इन बसों में 50 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिये आरक्षित होंगी।

Related Posts: