parliamentनयी दिल्ली,  सांसदों को संसदीय कार्यवाही में भाग लेने के लिये ऑड-ईवन के नियम से छूट नहीं दिये जाने से क्षुब्ध लोकसभा सचिवालय ने आज कहा कि सांसदों को लाने-ले जाने में वह पूरी तरह से सक्षम है और उसे दिल्ली सरकार की मदद की कोई दरकार नहीं है।

लोकसभा सचिवालय के प्रवक्ता एवं सचिव डी. भल्ला ने आज यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सांसदों को लाने-ले जाने के लिये संसद के पास 25 वाहनों का दस्ता है जिनमें सचिवालय की 18 इनोवा गाड़ियां और दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) से स्थायी रूप से किराये पर मारुति वेर्सा गाडियां हैं।
इसके अलावा दस गाड़ियां संसदीय सुरक्षा विभाग की हैं जो सांसदों को अंदर से बाहर लाती ले जातीं हैं।

Related Posts:

आतंकवाद के खिलाफ संप्रग सरकार ने की लड़ाई कमजोर
विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल सांची में पर्यटकों से अवैध वसूली
मुशर्रफ के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी
लखनऊ में अवैध निर्माण गिराने के समय बदसलूकी करने के आरोप में विधायक समेत नौ गिरफ...
दिल्ली में दस साल पुरानी डीजल गाड़ियों पर लगा प्रतिबंध
पुतिन से मिले मोदी, की सीमित बातचीत