armyनयी दिल्ली,  वायु सेना की एक महिला अधिकारी विंग कमांडर पूजा ठाकुर ने स्थायी कमीशन नहीं मिलने पर सशस्त्र सेना न्यायाधिकरण का दरवाजा खटखटाया है और न्यायाधिकरण ने वायु सेना को चार सप्ताह में अपना पक्ष रखने को कहा है। विंग कमांडर ठाकुर गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने आये अमेरिकी राष्ट्रपति बराक आेबामा को सलामी गारद पेश करने वाले दल का नेतृत्व करने के कारण खासा चर्चा में रही थी।

न्यायाधिकरण में विंग कमांडर ठाकुर का पक्ष रखने वाले वकील सुधांशु पांडेय ने यहां पत्रकारों को बताया ,“ न्यायाधिकरण ने मामले को सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है और वायु सेना से चार सप्ताह में जवाब देने को कहा है। ” विंग कमांडर ठाकुर ने उसे स्थायी कमीशन नहीं देने के वायु सेना के निर्णय को भेदभावपूर्ण, मनमाना और बिना किसी तर्क पर आधारित बताया है। यह घटनाक्रम ऐसे समय सामने आया है जब वायु सेना तीन महिला पायलटों को लड़ाकू दस्ते में शामिल करने के बाद महिलाओं को पुरुषों के बराबद दर्जा देने का दम भर रही है।

Related Posts: