वाशिंगटन,  अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने अंतिम संवाददाता सम्मेलन में नवनिर्वाचत राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को आगाह करते हुए कहा कि वह रूस पर लगे प्रतिबंधों को ना हटाएं जब तक कि रूस अपनी गलतियों को सुधार ना दे। व्हाइट हाउस में आठ साल बिताने के बाद राष्ट्रपति के रूप में श्री ओबामा की शुक्रवार को विदायी होनी है और इससे पहले वह यहां आखिरी बार संवादाताओं को संबोधित कर रहे थे।

श्री ओबामा ने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने रूस और अमरीका के बीच कड़वाहट पैदा करने का काम किया है और दोनों देशों के बीच शत्रुतापूर्ण संबंध कायम किया है। उन्होंने बहुत सी गोपनीय सूचना को लीक करने वाली सैनिक चैल्सी मैनिंग की जेल की सजा को कम करने के खुद के फैसले का भी बचाव किया। चैल्सी विकीलीक्स वेबसाइट को सरकार के खुफिया दस्तावेज मुहैया कराने के आरोप में 35 वर्ष की सजा काट रही थीं।

चैल्सी पर जासूसी अधिनियम का उल्लघंन तथा अन्य अपराध करने का आरोप था। वर्ष 2013 में उनका कोर्ट मार्शल कर दिया गया था। व्हाइट हाउस के मुताबिक चैल्सी को अब मई में रिहा कर दिया जाएगा जबकि पहले उन्हें 2045 में रिहा किया जाना था। श्री ओबामा ने अपने संबोधन कहा कि वे बुनियादी मूल्यों को बचाने के लिए अपनी आवाज उठाते रहेंगे। नव निर्वाचित राष्ट्रपति ट्रम्प को शुक्रवार को राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई जाएगी।

Related Posts:

मुझे बदनाम करने की साजिश है: विश्वास
आंध्र में ट्रेन हादसा, 6 मरे
महात्मा गांधी की पड़पोती आरोपी, चोरी और धोखाधड़ी का इल्जाम, कोर्ट में पेश
उत्तर कोरिया ने हाइड्रोजन बम का परीक्षण् किया
सेंसरबोर्ड के पुराने नियमों में बदलाव जरुरी : सरकार
दिल्ली के मुख्यमंत्री-उपराज्यपाल अधिकार मामले में सुनवाई पांच दिसम्बर तक स्थगित