MP1भोपाल,   प्रदेश में चक्रवात बनने तथा हवा के कम दबाव के कारण से प्रदेश भर में मौसम में तेजी से बदलाव आया है. महाकौशल शनिवार की शाम से बारिश व ओलावृष्टि का दौर शुरू हुआ है.

प्रदेश के विभिन्न जिलों में ओलावृष्टि व बारिश हुई है. शनिवार शाम से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला सोमवार को प्रदेश में लगातार जारी रहा. महाकौशल, विध्यांचल व चंबल में कई जगहों पर भयंकर ओलावृष्टि के साथ बारिश हुई है. ओलावृष्टि से सरसों, गेंहू व अन्य फसलों में काफी नुकसान हुआ है. सोमवार शाम प्रदेश के कई जिलों में बादल छाए और गरज-चमक के साथ बारिश हुई. चंबल संभाग के ग्वालियर में भयंकर ओलावृष्टि हुई है.

ग्वालियर शहर की सड़कों पर सफेद चादर सी छा गई. ग्वालियर संभाग में बारिश 4 सिमी रिकॉर्ड की गई. जबलपुर जिले की कटंगी तहसील में करीब आधे घंटे तक ओले गिरे, जिससे फसलों को नुकसान हुआ. वहीं विध्यंक्षेत्र एवं महाकौशल संभाग के जबलपुर, कटनी, मंडला, सिवनी, बालाघाट, डिंडौरी, नरसिंहपुर तथा शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, दमोह, छिंदवाड़ा आदि अनेक स्थानों में गरज-चमक के साथ बारिश व ओलावृष्टि हुई. इसके साथ ही कई मवेशियों के मरने की खबर है. प्रदेश में सर्वाधिक तापमान 39 डिग्री सेल्सियस खरगौन में एवं सबसे कम न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस उज्जैन में दर्ज किया गया.

Related Posts: