pathanमुंबई,  ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एमआईएम) चीफ असदुद्दीन ओवैसी के ‘भारत माता की जय’ न कहने से उठा विवाद बुधवार को महाराष्ट्र विधानसभा में भी पहुंच गया. महाराष्ट्र विधानसभा में ‘भारत माता की जय’ कहने से इनकार करने पर एमआईएम के विधायक वारिस पठान को सदन से सस्पेंड कर दिया गया.

उल्लेखनीय बात यह है कि पठान के निलंबन का प्रस्ताव सदन में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के नेता ने रखा, जिसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया. महाराष्ट्र विधानसभा में बुधवार को बजट सत्र में बहस के दौरान ‘भारत माता की जयÓ का मुद्दा भी उछल गया. इस दौरान एमआईएम के विधायक वारिस पठान ने ओवैसी के बयान का समर्थन करते हुए ‘भारत माता की जयÓ का नारा लगाने से इनकार कर दिया. इससे सत्तारूढ़ बीजेपी और शिवसेना के विधायक भड़क गए. पठान के निलंबन के लिए सदन में एक प्रस्ताव लाया गया, जिसका कांग्रेस समेत सभी दलों ने समर्थन किया. वारिस पठान को बजट सत्र की शेष अवधि के लिए महाराष्ट्र विधानसभा से सस्पेंड कर दिया गया.

बीजेपी विधायक आशीष शेलार ने बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि वारिस पठान ने सदन में भारत माता की जय बोलने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने सदन में पठान के निलंबन की मांग रखी.
उन्होंने कहा कि हम सरकार का धन्यवाद देते हैं कि उन्होंने इस मांग के प्रस्ताव को सदन में रखा और सभी अन्य दलों ने उसे सहमति दी. वहीं शिव सेना के विधायक राम कदम ने पठान के भारत माता की जय का नारा न लगाने को देश का अपमान करार दिया.

उधर एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन औवेसी ने लोकसभा में सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने पठानकोट हमले को लेकर सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने रक्षामंत्री से यह प्रश्न पूछा कि क्या एनआईए पठानकोट में खाली बिल्डिंग पर फायरिंग कर रही थी? सलविंदर सिंह का मामला क्या है. पाक जांच टीम को लेकर भी औवेसी ने सरकार से प्रश्न पूछा.

Related Posts:

सीबीआई मुझे फंसाना चाहती है: मायावती
हरीश ने गवर्नर से मिल किया बहुमत का दावा
गरीबों को विकास यात्रा में भागीदार बनायेगी सरकार : मोदी
गतिमान एक्सप्रेस वापसी में भी सौ मिनट में पहुंची निजामुद्दीन
पाकिस्तानी जांच दल के भारत आने पर मोदी देश से माफी मांगे : केजरीवाल
पूरे देश में मनाया जा रहा है महाशिवरात्रि का पर्व