महापौर ने रजत नगर एवं सोनागिरी में ‘चाय पर चर्चा’ में दम्पत्तियों को स्वच्छता हेतु प्रेरित करने का दिलाया संकल्प

भोपाल,

स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में भोपाल को देश का सबसे स्वच्छ शहर बनाने के प्रयासों के साथ ही नवाचार भी किये जा रहे हैं.

इसी के तहत महापौर आलोक शर्मा ने भेल क्षेत्र के रजत नगर एवं सोनागिरी ए-सेक्टर में रहवासी कपल्स के साथ ‘चाय पर चर्चा’ आयोजित कर शहर में स्वच्छता बनाये रखने हेतु नागरिकों को प्रेरित करने के दृष्टिïगत अनेक दम्पत्तियों का सुपारी, हल्दी, कुमकुम, फूल एवं शगुन राशि रखकर गठजोड़ किया व एक-दूसरे को वर-माला पहनवाकर स्वच्छता हेतु नागरिकों को प्रेरित करने का संकल्प दिलाया.

उन्होंने कहा कि प्रत्येक दम्पत्ति 100-100 घरों में जाकर नागरिकों को स्वच्छता एवं कचरे के पृथक्कीकरण कर गीला-सूखा कचरा अलग डस्टबिन में रखने हेतु प्रेरित करें.

महापौर शर्मा ने सूखे एवं गीले कचरे में सम्मिलित वस्तुओं की विस्तारपूर्वक जानकारी दी और बताया कि शहर की खूबसूरती पर बदनुमा दाग भानपुर खंती को हम पूरी तरह बंद कर रहे हैं और आदमपुर छावनी में नई लेन फिल साईट प्रारंभ कर दी गई है.

24 जनवरी को भानपुर खंती को बंद किया जायेगा. महापौर शर्मा ने इस मौके पर बड़ी संख्या में मौजूद विभिन्न कॉलोनियों के रहवासियों को स्वच्छता की शपथ भी दिलाई.

महापौर आलोक शर्मा ने रविवार को प्रात: वार्ड क्र. 67 के रजत नगर में एवं सायंकाल वार्ड क्र. 64 के सोनागिरी ए-सेक्टर में आयोजित कपल्स के साथ ‘चाय पर चर्चा’ के दौरान कहा कि गत स्वच्छ सर्वेक्षण में जो कमियां रह गईं थी, हम उनको दूर करेंगे और अपने शहर को अवश्य ही स्वच्छता में देश का प्रथम शहर बनायेंगे.

उन्होंने स्वच्छता सर्वेक्षण में भोपाल को दूसरा स्थान प्राप्त करने का श्रेय नागरिकों के साथ ही स्वच्छता सेवकों को देते हुये अत्यंत भावुक अंदाज में स्वच्छता सेवकों द्वारा अल सुबह सडक़ों व नालियों की गंदगी सफाई हेतु किये जाने वाले कार्यों का वर्णन करते हुये कहा कि इनके प्रति समाज को अपना रवैया भी बदलना पड़ेगा.

उन्होंने कहा कि हमें स्वच्छता में सहयोग करने की आदत डालना पड़ेगी. महापौर शर्मा ने रोको-टोको अभियान को अपनाने का भी आग्रह किया साथ ही गीले एवं सूखे कचरे को अलग-अलग डस्टबिन में रखने और कचरा कलेक्शन हेतु आने वाले स्वच्छता कर्मी को अलग-अलग डस्टबिन में देने का आग्रह किया साथ ही बड़े संस्थानों से कम्पोस्ट यूनिट लगवाने की अपील भी की.

महापौर शर्मा ने कहा कि नगर निगम द्वारा सूखे कचरे से बिजली बनाने का कार्य कराया जायेगा जिसके लिये आदमपुर में वेस्ट टू एनर्जी प्लांट लगाया जा रहा है तथा शहर के 10 स्थानों पर कचरा कलेक्शन सेन्टर बनाया जा रहा है, जहां गीले कचरे से मीथेन गैस बनाई जायेगी .

धनवंतरी पार्क की दीवार पर की सफाई और पेंटिंग

स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में भोपाल शहर को नंबर-वन बनाने हेतु नगर निगम द्वारा स्वच्छता बनाये रखने व नागरिकों को प्रेरित करने के प्रयास निरंतर जारी हैं. इन्हीं प्रयासों में नागरिकों एवं स्वयं सेवी संगठनों द्वारा भी सक्रिय सहयोग दिया जा रहा है.

इसी तारतम्य में आई-क्लीन भोपाल टीम ने वार्ड क्र. 57 के अंतर्गत धनवंतरी पार्क की बाउंड्रीवॉल की सफाई की और पेंट कर उस पर स्वच्छता के संदेशयुक्त आकृतियां उकेरीं.

निगम आयुक्त प्रियंका दास ने कार्य स्थल पर पहुंचकर बाउंड्रीवॉल की साफ-सफाई एवं पेंटिंग आदि के कार्य का अवलोकन किया और आई-क्लीन द्वारा निगम को दिये जा रहे सहयोग व दीवारों की साफ-सफाई व पेंटिंग के कार्य की सराहना करते हुये टीम के सदस्यों का उत्साहवर्धन भी किया.

इस अवसर पर निगम के अपर आयुक्त एम.पी. सिंह , मुख्य अभियंता पी.के. जैन, प्रभारी सहायक स्वास्थ्य अधिकारी रविकांत औदिच्य, दिनेश पाल सहित निगम के अन्य अधिकारी व आई-क्लीन टीम के सदस्य मौजूद थे.

Related Posts: