bpl4भोपाल,  कमला नगर इलाके में पढ़ाई के बोझ से दबी एक छात्रा ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस को मृतका के पास से एक सुसाइड नोट मिला है. फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बी-50 कमला नगर में रहने वाली 15 वर्षीय मृतका प्रगति देशमुख सरस्वती शिशु मंदिर में 9वीं कक्षा में पढ़ती है. उसके पिता पुरुषोत्तम देशमुख भोपाल से बाहर नौकरी करते हैं. घर में दो बहनें और मां रहती हैं. बुधवार से उसकी परीक्षाए शुरु होने वाली थी. मंगलवार सुबह वह अपनी मां के साथ स्कूल से एडमिट कार्ड लेकर आई थी. स्कूल से आने के बाद वह अपने कमरे में चली गई.

इस दौरान उसकी मां भी कहीं काम से घर से बाहर निकल गई. घर में दोनों बहनें थी. करीब तीन बजे बड़ी बहन जब अपनी छोटी बहन प्रगति के कमरे के पास से गुजरी तो उसके कमरे का दरवाजा बंद देखकर उसने अपनी बहन को आवाज लगाई. कई बार बुलाने पर भी जब कोई जवाब नहीं मिला तो उसने खिड़की में से झांक कर अंदर देखा. कमरे में प्रगति पंखे से साड़ी के फंदे पर झूल रही थी. उसने अपनी मां को फोन पर जानकारी दी.

घर पहुंची मां उसे आनन-फाननं अस्पताल लेकर पहुंच गई, जहां डाक्टरों ने प्रगती को मृत घोषित कर दिया. पुलिस मृतका के पास से मिले सुसाईड नोट की जांच कर रही है.

सुसाइड नोट में छात्रा ने लिखा है कि वह परीक्षा में फस्ट नहीं आ सकती, सेकेंड या थर्ड आ सकती है. फिलहाल घर के सभी सदस्यों के सदमें में होने के कारण पुलिस उनके बयान भी नहीं ले पाई है. पुलिस ने शव बरामद कर उसे पीएम के लिए भेज दिया है.