rajanमुंबई. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर रघुराम राजन ने दुनिया में करंसी वॉर छिडऩे की आशंका जताई है. उन्होंने कहा कि यूआन के मूल्य में गिरावट चिंताजनक नहीं है लेकिन ऐसी स्थिति अगर लंबे समय तक रही तो अन्य देश भी जैसे को तैसा वाला ऐक्शन ले सकते हैं. इससे करंसी वॉर छिडऩे का खतरा है.

यूआन के मूल्य में गिरावट करने के बाद से रुपये में डॉलर की तुलना में 2 फीसदी गिरावट आ गई है. सितंबर 2013 की तुलना में यह एक पॉइंट नीचे गिर गया है. सितंबर 2013 में भारत दो दशकों के सबसे बड़े करंसी संकट से जूझ रहा था.हालांकि राजन ने यह भी कहा कि उनका मानना है कि पीपल्स बैंक ऑफ चाइना का ऐक्शन लंबे समय के डीवैल्यूएशन का संकेत नहीं है लेकिन उन्होंने खतरे से चेताया.

राजन ने मुंबई में आयोजित एक बैंकिंग कार्यक्रम में बताया, च्मेरा मानना है कि चीनी करंसी में गिरावट अगर इसी स्तर पर बनी रहे तो हमें चिंता की कोई जरूरत नहीं है.

उन्होंने यह भी कहा, च्अगर यह लंबे समय तक मूल्य गिरावट के जरिए फायदा हासिल करने का प्रोसेस है तो यह दुनिया भर के लिए चिंताजनक बात है क्योंकि आपको जैसे को तैसा वाले ऐक्शन का सामना करना पड़ेगा.ज् उनके कहने का मतलब है कि फिर अन्य देश भी करंसी में गिरावट करना शुरू कर देंगे जो चिंताजनक बात है. इंटरनैशनल मॉनिटरी फंड के पूर्व प्रमुख अर्थशास्त्री राजन ने भारत जैसे उभरते मार्केट्स के लिए प्रतियोगी करंसी अवमूल्यन के खतरों से बार-बार चेताया है. उदाहरण के तौर पर कोई नाम लिए बगैर उन्होंने चिंता जताई कि पिछले कुछ सालों से इस प्रकार का अवमूल्यन चल रहा है.