kashmirश्रीनगर, हिजबुल मुजाहिदीन के शीर्ष कमांडर बुरहान वानी के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद कश्मीर घाटी में शुरू हुए प्रदर्शन,हड़ताल और पथराव की घटनाअों के मद्देनजर लगाये गये कर्फ्यू का दायरा पूरे श्रीनगर जिले आैर घाटी के अधिकतर शहरों तक बढ़ा दिया गया है।

कर्फ्यू के साथ ही पाबंदियों और अलगाववादियों की हड़ताल के कारण पूरी घाटी में आज 48वें दिन भी जनजीवन बुरी तरह प्रभावित रहा। अनंतनाग जिले के कोकरनाग में आठ जुलाई को हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी समेत तीन आतंकवादियों के मुठभेड़ में मारे जाने के अगले दिन से ही घाटी में जारी हिंसा और सुरक्षा बल तथा पुलिसकर्मियों की फायरिंग की घटनाओं में अब तक 68 लोग मारे गये हैं और 5500 अन्य घायल हुए हैं।

“आजादी समर्थक” प्रदर्शनकारियों के पथराव में दो पुलिसकर्मी भी शहीद हुए हैं और 4500 सुरक्षा बल और पुलिस के जवान घायल हैं। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के श्रीनगर के दौ दिवसीय दौरे बाद आज प्रशासन ने ईदगाह की ओर अलगाववादियों के “आजादी मार्च” के आह्वान को देखते हुए पूरे श्रीनगर जिले और घाटी के अधिकतर शहरों और तहसील मुख्यालयों में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

श्री सिंह ने घाटी में शांति बहाली के कई उपायों की घोषणा के साथ ही लोगों से शांति और सौहार्द्र बनाये रखने की अपील की है। दो दिवसीय दौरे के दौरान श्री सिंह से 300 से अधिक प्रतिनिधिमंडलों, राजनीतिक प्रतिनिधियों और अन्य लोगों ने मुलाकात की थी। उन्होंने पेलेट गन के प्रयोग पर शीघ्र रोक लगाने, राज्य के बाहर रह रहे कश्मीर के लोगों के लिए एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति करने, 10000 विशेष पुलिस अधिकारियों के पदों पर और केंद्रीय सशस्त्र बटालियन में स्थानीय लोगों को नियुक्त करने और संविधान के दायरे में बातचीत की प्रक्रिया शुरू करने की भी घोषणा की थी।

केंद्रीय गृह मंत्री की घोषणा का आंशिक असर रहा क्योंकि अलगाववादियों ने उनके प्रस्ताव को खारिज करते हुए कश्मीर मुद्दे का हल सयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के तहत करने की मांग की है । निर्दलीय विधायक और अवामी एतेहाद पार्टी के प्रमुख शेख अब्दुल राशिद ने श्री सिंह के साथ बातचीत में जम्मू- कश्मीर में नियंत्रण रेखा के दोनों ओर जनमत संग्रह कराने की मांग की थी।

गत नौ जुलाई से आंदोलन को हवा दे रही हुर्रियत कांफ्रेंस के दोनों धड़ों और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट ने हड़ताल की अवधि एक सितंबर तक बढ़ाने की घोषणा की है। हालांकि कर्फ्यू में कल दिन में 10 बजे से शाम छह बजे तक ढील देने का प्रशासन ने फैसला किया है।

Related Posts: