digvijayगुना,   कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आज भारतीय जनता पार्टी पर कश्मीर में छात्रों का ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा को देशहित को देखते हुए अपनी इस नीति से बचना चाहिए। राघौगढ के दौरे पर आए श्री सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि कश्मीर मे छात्रों के ध्रुवीकरण के तहत उनके बीच असंतोष पैदा करना देश के लिए चिंताजनक व विध्वंसकारी है।

भाजपा को कश्मीर में अपनी इस नीति से बचना चाहिए। ऐसा होने पर आगे चलकर देश के लिए खतरा हो सकता है। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणामों पर किसी भी प्रकार की भविष्यवाणी से बचते हुए श्री सिंह ने कहा कि 19 मई को सब पता चल जाएगा। कोहिनूर हीरे को लंदन से वापस लाए जाने पर केंद्र सरकार के न्यायालय में दिए हलफनामे संबंधित प्रश्न पर कांग्रेस महासचिव ने कहा कि पूर्व में भाजपा, कांग्रेस पर आरोप लगाती थी कि वह कोहिनूर हीरे को वापस नहीं ला रही है।

अब भाजपा सरकार खुद अपने रुख से पलटकर अदालत में लिखकर दे रही है कि हीरा उपहार में दिया गया था, न कि जबर्दस्ती छीना गया था। उत्तराखंड में पिछले दिनों आए राजनीतिक संकट पर उन्होंने कहा कि देश की निर्वाचित सरकारों को हटाना असंवैधानिक व प्रजातंत्र को कमजोर करने वाला कदम है। श्री सिंह ने कहा कि मीडिया का एक वर्ग सरकार के दबाव में कांग्रेस पार्टी द्वारा किये जा रहे भाजपा सरकार की जनविरोधी गतिविधियों के विरोध को दिखाने मे कंजूसी बरत रहा है, जब कि कांग्रेस देश भर में ऐसा विरोध कर रही है।

इशरत जहां एनकाउंटर मामले के बारे में पूछे जाने पर श्री सिंह ने कहा कि ऐसा लगता है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह खुद को कानून से बचाने के लिए इशरत को आतंकी करार दिलवाने पर तुले हुए हैं। मप्र के होशंगाबाद में एक पत्रकार को कथित तौर पर रेत माफिया द्वारा बंधक बनाकर मारपीट के मामले में कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मप्र में आतंक का राज चल रहा है।

श्री सिंह ने आरोप लगाया कि प्रदेश में मंत्रियों के सहयोगी व परिवारजन अवैध रेत खनन में संलग्न हैं। उन्होंने कहा कि वे स्वयं आज शाम होशंगाबाद पहुंचकर रेत माफिया के आतंक को उजागर करेंगे। केन्द्र सरकार के ग्रामोदय से भारत उदय कार्यक्रम को मजाक बताते हुए उन्होंने कहा कि एक ओर प्रदेश सरकार ग्राम पंचायतों के अधिकार छीन रही है, दूसरी ओर ग्राम उदय की बात कर रही है।

श्री सिंह ने यह भी कहा कि पूर्व में ग्राम सभा को संपूर्ण अधिकार थे, जिसे भाजपा सरकार ने छीन लिया है। श्री सिंह ने सिंहस्थ में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश मे एक ओर सूखे का संकट है, वहीं भाजपा सरकार सूखे के बजट को सिंहस्थ में कई फिजूल के कार्यों पर खर्च कर रही है। सिंहस्थ मे कार्यों के नाम पर भारी भ्रष्टाचार हो रहा है, निर्माण कार्य गुणवत्ताविहीन हैं।

Related Posts:

कटनी के जंगलों से 22 बाघ, 18 तेन्दुआ लापता!
मुख्यमंत्री आज 37 प्रमुख सचिवों से चर्चा करेंगे
पर्यटन के लिए मप्र आने पर 40 फीसदी छूट मिलेगी उप्र के लोगों को
कार्यपालन यंत्री ठेकेदार से रिश्वत लेते धराया, मांगे थे 20 हजार रुपए
कृषि उपज मंडी में हंगामा, पारिश्रमिक दर वृद्धि पर अड़े हम्माल
हेराफेरी के आरोपी प्रबंधक के पीएफ खातों से वसूली कर सकती है बैंक