kashmirश्रीनगर,  हिजुबल मुजाहिदीन के शीर्ष कमांडर बुरहान वानी के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद कश्मीर घाटी में भड़की हिंसा के बाद वहां लगायेे गये कफ्यू के कारण लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड रहा है। घाटी में लगातार चौथे दिन भी आज कर्फ्यू जारी रहा। सूत्रों के अनुसार हत्या के विरोध में अलगाववादी संगठन हुर्रियत कांफ्रेस(एचसी) और जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट(जेकेएलएफ) की ओर से बंद की घोषणा की बाद शहर ए खास और पुराने इलाकों में शनिवार सुबह से ही कर्फ्यू लगा दिया गया था।

उन्होंने बताया कि हिंसा भडकने के कारण बटमालू समेत कई और इलाकों में कल कर्फ्यू लगाया गया। वहीं शहर ए खास के नौहट्टा रैनावडी एम आर गंज सफा कदाल और खानयार और मैसुमा सिविल लाइंस और पुराने इलाकों में रविवार से ही कर्फ्यू लागू है। जिन इलाकों में कर्फ्यू लगाया गया है वहां भारी संख्या में सुरक्षा बल और राज्य पुलिस बल के जवानों की तैनाती की गई है।

लोगों को घरों के अंदर रहने को कहा गया है। क्षेत्र में किसी भी व्यक्ति को प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जा रही है। विभिन्न इलाकों में सडकों पर तार से घेराबंदी की गई है। स्वास्थ्य विभाग आैर मरीजों को ले जाने वाली वाहनों को सुरक्षा जांच और पहचान पत्र दिखाने के बाद ही जाने की अनुमति दी जा रही है। कर्फ्यू के कारण लोगाें को दूध ,दवाई ,सब्जियों और अन्य आवश्यक सामानों की कमी का सामना करना पड रहा है।

Related Posts:

टीम अन्ना से आम जनता का मोह भंग
सभी मसालेदार फसलों के लिए अब 26 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से राहत
भारत के बिना कागज़ों में रह जाएगी 'ब्लू इकोनॉमी'
जल्लीकट्टू : केंद्र की अधिसूचना पर सुप्रीम कोर्ट का इंकार
शंघाई सहयोग संगठन में शामिल होने ताशंकद पहुंचे मोदी
मोदी टीवी पर बोलते हैं, संसद में क्यों नहीं : राहुल