srinagarश्रीनगर,  कश्मीर घाटी में अलगाववादियों के बंद एवं हड़ताल के आह्वान के कारण आज लगातार 85वें दिन जनजीवन बुरी तरह प्रभावित रहा और लोगों को राहत नहीं मिली । इससे पहले अलगाववादियों के कल ‘लाल चौक’ रैली को विफल करने शहर.ए.खास में पांच पुलिस थाना क्षेत्रों के अलावा मैसुमा और बटमालू में प्रशासन ने कर्फ्यू लगा दिया था, जिसे अब हटा लिया गया है, हालांकि कश्मीर घाटी में प्रमुख शहरों और तहसील मुख्यालयों के कुछ संवेदनशील स्थानों में धारा 144 के तहत लोगों के एकत्र होने पर पाबंदिया लगातार जारी रहेगी।

अलगाववादियों ने लोगों से कल दिन में बंद के कारण शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक अपना सामान्य कामकाज निपटा लेने के लिए कहा है । उन्होंने लोगों से अपने-अपने जिलों में आजादी रैली निकालने का भी आह्वान किया है । शहर.ए.खास और आसपास के इलाकों में सड़कों को कंटीले तारों से घेरकर बंद कर दिया गया था जबकि नवा कदाल, कावडारा और नवा बाजार में इसी तरह सड़कों पर आवाजादी बंद करवा दी गई है तथा बुलेटप्रूफ बंकर वाहनों को खड़ा किया गया है।

प्रमुख शहरी इलाकों का जायजा लेने निकले यूनीवार्ता संवाददाता ने देखा कि बुलेट प्रूफ जैकेट पहने और स्वचालित हथियार लिए सुरक्षाबल और पुलिस के जवान कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए विभिन्न स्थानों पर तैनात हैं। शहर.ए.खास में ऐतिहासिक जामा मस्जिद इलाके में स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है । जामा मस्जिद का प्रमुख द्वार बंद है तथा लोगों को उधर जाने से रोकने के लिए सुरक्षा बल के जवान तैनात हैं । सुरक्षा बलों ने मस्जिद के प्रमुख द्वार के समीप एक बुलेटप्रूफ वाहन खड़ा किया है ।

इस इलाके में गत नौ जुलाई से निषेधाज्ञा लागू होन के कारण यहां शुक्रवार की नमाज नहीं हो रही है । जामिया बाजार में भी सुरक्षा बल के जवान तैनात नजर आ रहे हैं । शेरे कश्मीर आयुर्विज्ञान संस्थान(स्किम्स) की ओर जाने वाले नौहट्टा और अन्य मार्ग को आवाजाही के लिए खोल दिया गया है , लेकिन लोगों के एकत्र होने पर रोक लगाने के लिए सुरक्षा बल के जवान यहां मुस्तैद हैं । नौहट्टा और ईदगाह से गुजरने वाले शेरे कश्मीर आयुर्विज्ञान संस्थान (स्किम्स) तथा अन्य मार्गों पर दोपहिया और तिपहिया वाहनों सहित कुछ निजी वाहनें चल रहे हैं।

Related Posts: