uttrakhandदेहरादून,   उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार पर काले बादलों का साया और अधिक गहरा हो गया है. बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुलाकात कर प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश किया है.

बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल के साथ कांग्रेस के 10 बागी विधायकों और बीएसपी के एक विधायक ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई. इससे पहले प्रदेश सरकार के मंत्री हरक सिंह रावत ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया. गौरतलब है कि शुक्रवार सुबह कांग्रेस के बागी विधायक विस में विपक्षी पार्टी बीजेपी के साथ खड़े होकर वित्त विधेयक पर वोटिंग की मांग करने लगे थे. विस स्पीकर द्वारा ध्वनिमत से वित्त विधेयक को पास करा दिए जाने पर विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ था. इस बीच सदन का माहौल इतना खराब हो गया था कि स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस भी बुलानी पड़ गई थी.

शुक्रवार देर शाम राज्यपाल केके पॉल के सामने सरकार बनाने का दावा पेश करने से पहले सीएम हरीश रावत की कैबिनेट के मंत्री हरक सिंह रावत ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया. इस बीच केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेता महेश शर्मा भी देहरादून पहुंच गए. माना जा रहा है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तराखंड की जिम्मेदारी महेश शर्मा को दी है. महेश शर्मा के साथ ही कैलाश विजयवर्गीय भी उत्तराखंड में ही हैं. विजयवर्गीय भी 35 विधायकों के साथ राजभवन पहुंचे और सरकार बनाने का दावा पेश किया.

Related Posts: