RAHULनई दिल्ली, 2 मई. कांग्रेस ने पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने संबंधी खबरों का आज खंडन किया, लेकिन उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा को यह जिम्मेदारी सौंपे जाने की खबर पर कोई टिप्पणी नहीं की.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने यहां पार्टी की नियमित प्रेस ब्रीफिंग में इस बारे में पूछे गए एक सवाल पर कहा: राहुल गांधी पार्टी के उपाध्यक्ष हैं और उम्मीद है कि 2016 में वह कांग्रेस के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभाल लेंगे. उनसे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की रणनीति तैयार कर रहे प्रशांत किशोर के हवाले से छपी इन खबरों के बारे में पूछा गया था कि राहुल गांधी को मुख्यमंत्री के रूप में पेश किया जाना चाहिए.

खबरों में कहा गया था कि यदि राहुल इस प्रस्ताव पर सहमत नहीं होते हैं तो प्रियंका मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार हो सकती हैं और यदि दोनों इससे असहमत होते हैं तो ऐसी स्थिति में किशोर ने इसके लिए दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का नाम सुझाया है.

रमेश ने कहा: किशोर ने क्या कहा या पत्रकारों ने उनके मुंह से क्या कहलवाया है, इसकी मुझे जानकारी नहीं है, लेकिन राहुल गांधी अभी पार्टी उपाध्यक्ष हैं और इसी साल वह कांग्रेस की कमान संभाल सकते हैं. प्रियंका के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी उन्हें नहीं है. चेन्नई में भी गांधी को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के रूप में पेश किए जाने पर विचार करने संबंधी एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि देश के 29 राज्यों के मुख्यमंत्री नहीं बन सकते. गौरतलब है कि राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपने के लिए पार्टी में विभिन्न स्तरों पर लम्बे समय से मांग हो रही है.

इस बीच इस बारे में पत्रकारों के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा: मुझे इस बारे में कुछ पता नहीं है. यह आप लोग हैं, जो ऐसी खबरें चलाते हैं. आप बेहतर जानते हैं.

Related Posts: