01guptaभोपाल,1 सितंबर.कार्य करने में असमर्थ सहायक प्राध्यापकों एवं प्राध्यापकों की सेवायें समाप्त की जायेंगी. उच्च शिक्षा विभाग द्वारा ऐसे प्रकरणों की जाँच के लिए एक समिति गठित की गयी है.

उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने विभागीय योजनाओं की समीक्षा के दौरान समिति की बैठक तुरंत करवाने के निर्देश दिये.गुप्ता ने तकनीकी विभाग की समीक्षा के दौरान इंजीनियरिंग कॉलेज झाबुआ और शहडोल के लिए प्रभारी प्राचार्य नियुक्त करने के निर्देश दिए.उन्होंने पॉलीटेक्निक कॉलेज के लिए हो रही व्याख्याता की भर्ती के संबंध में भी जानकारी ली.

कॉलेजों का निरीक्षण करें
गुप्ता ने विषयवार पदों का युक्तियुक्तकरण करने के निर्देश दिये.उन्होंने कहा कि सहायक प्राध्यापक और प्राध्यापक से प्राचार्य के पद पर पदोन्नति शीघ्र की जाए. क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक सितम्बर माह में कॉलेजों का निरीक्षण करें.

ये मौजूद रहे
बैठक में प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा के.के. सिंह, आयुक्त उमाकांत उमराव, अपर सचिव तकनीकी शिक्षा डी.डी. अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे.

Related Posts: