नई दिल्ली,   मारुति के ईडी आर एस कलसी का कहना है कि कंपनी ने ऑल्टो की 30 लाख से ज्यादा गाडिय़ां बेच ली हैं जो एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है। कंपनी की इस एंट्री सेगमेंट की कार मध्यम वर्ग में काफी प्रचलित है और आगे भी इस कार की लोकप्रियता बरकरार रहेगी। इस साल मॉनसून अच्छा रहने से ऑटो सेक्टर के लिए उम्मीदें अच्छी हैं लेकिन बजट में जो गाडिय़ों पर नई ड्यूटी, सेस लगाया गया है उससे इस सेक्टर पर निगेटिव असर पडऩा लाजिमी है।

इंफ्रा सेस की वजह से गाडिय़ों की कीमतें 12,000 रुपये से 40,000 रुपये के बीच बढ़ेंगी। छोटी कारों की कीमतों में 1 फीसदी तक का असर पड़ेगा तो छोटी कारों में 3000 रुपये तक इजाफा हो जाएगा। वहीं डीजल कारों पर 4 फीसदी तक का टैक्स लगेगा तो ये कारें 20,000 रुपये से 40,000 रुपये तक महंगी हो जाएंगी। सरकार ने छोटी कारों पर भी 1 फीसदी सेस लगाया जा चुका है जिससे एंट्री सेगमेंट की कारों की बिक्री पर असर पड़ सकता है।

Related Posts: