mp3अशोकनगर,   जिले के विभिन्न विभागों में बैठकर भ्रष्टाचार की अलख जगा रहे अधिकारियों पर इनदिनों लोकायुक्त की लगातार कार्रवाहियां होने से इस शहर की पहचान कुछ अलग ही बनती नजर आ रही है.

गुरूवार को बिजली विभाग के सहायक यंत्री एके जैन को 12 हजार रूपये की रिश्वत के साथ लोकायुक्त की टीम ने रंगे हाथों उन्हीं के कक्ष में दबोचा था.तो अगली ही सुबह शुक्रवार को पीएचई विभाग के कार्यपालन यंत्री सौरभ गोल्या को ग्वालियर स्थित उनके निवास से ठेकेदार द्वारा बीस हजार रूपये की घूस लेते हुए गिरफ्तार किया है.

भ्रष्ट तंत्र पर नकेल कसने के लिये लोकायुक्त संभाग ग्वालियर शहर में लगातार कार्रवाहियां होने से भ्रष्टाचार की कहानियां अब आएदिन उजागर हो रही हैं.विगत माह 7 अपै्रल को लोकायुक्त टीम ने छापा मारकर तहसीलदार आलोक वर्मा का पेंट उतरवाकर उसमें रखे 20 हजार रूपये जप्त कर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई की थी.

सौरभ गोल्या जो जिला मुख्यालय के लोक स्वास्थ्य ग्रामीण विभाग में कार्यपालन यंत्री के पद पर पदस्थ है.वह ठेकेदार सनत सिंघई को विगत एक वर्ष से प्लेटफार्म निर्माण एवं बोर उत्खनन का 5 लाख रूपये बकाया भुगतान कराने के लिये लगातार रिश्वत की मांग कर रहा था.जिससे परेशान होकर श्री सिघई ने लोकायुक्त का सहारा लिया.और उक्त घूस के शौकीन पीएचई अधिकारी रंगेहाथ गिरफ्तार कराया है.

Related Posts: