कैंप डेविड,

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि वह निश्चय ही उत्तर कोरिया के तानाशाह शासक किम जोंग उन से फोन पर बात करना चाहते हैं।श्री ट्रम्प ने उम्मीद जताई है कि अगले सप्ताह उत्तर कोरिया तथा दक्षिण कोरिया के बीच होने वाली बातचीत के अच्छे परिणाम सामने आएंगे और कोरियाई प्रायद्वीप में जारी तनाव कुछ कम होगा।

श्री ट्रम्प ने मैरीलैंड के कैंप डेविड में आयोजित एक कार्यक्रम में संवाददाताओं के प्रश्नों के उत्तर देते हुए किम से पूर्व शर्त के साथ बात करने की इच्छा जाहिर की।उन्होंने कहा, “मैं निश्चय ही बात करूंगा।
मुझे इसमें कोई परेशानी नहीं है।” अमेरिकी राष्ट्रपति ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि इस बातचीत के लिए कुछ शर्तें पहले से तय होंगी।

इससे पहले शुक्रवार को अमेरिका तथा दक्षिण कोरिया द्वारा संयुक्त सैन्य अभ्यास को स्थगित करने के कुछ घंटों बाद ही दो वर्ष से अधिक समय के बाद पहली बार उत्तर काेरिया ने दक्षिण कोरिया के साथ आधिकारिक बातचीत करने पर सहमति जताई है।

यह पूरा घटनाक्रम प्योंगयांग के परमाणु तथा मिसाइल कार्यक्रम पर जारी गतिरोध के बीच हुआ है।श्री ट्रम्प के सत्ता संभालने के बाद से ही श्री ट्रम्प और किम जोंग एक दूसरे का अपमान कर रहे हैं।परमाणु हथियार तथा मिसाइल परीक्षण को लेकर श्री ट्रम्प किम जोंग को ‘रॉकेट मैन’ भी कह चुके हैं।

नव वर्ष की शुरुआत में टेलीविजन पर प्रसारित अपने संबोधन में किम जोंग उन ने अमेरिकी राष्ट्रपति को संबोधित करते हुए कहा था कि परमाणु हथियार वाला बटन उनकी मेज पर ही है, जिसके जवाब में श्री ट्रम्प ने कहा था कि उनके पास बड़ा बटन है और वह काम भी करता है।

गौरतलब है कि अपने संबोधन में किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया में होने जा रहे शीतकालीन ओलंपिक खेलों के कामयाब रहने की उम्मीद जताई थी।इन खेलों का आयोजन नौ फरवरी से 25 फरवरी तक प्योंगचांग शहर में किया जाएगा।

किम जोंग ने कहा था कि शीतकालीन ओलंपिक खेलों के लिए वह एक प्रतिनिधिमंडल भेजने पर विचार कर रहे हैं।इसके जवाब में दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन ने उत्तर कोरिया के साथ इस विषय पर विस्तृत चर्चा के लिए बैठक करने का सुझाव दिया था।

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच वार्ता के दौरान अगले महीने दक्षिण कोरिया में होने वाले शीतकालीन ओलंपिक खेलों तथा अंतर-कोरियाई संबंधों पर भी चर्चा होने की संभावना है।श्री ट्रम्प ने सुझाव दिया कि वार्ता से तनाव कम हो सकता है और इस राजनयिक सफलता का श्रेय लेते हुए कहा कि यह उनके संतुलित दबाव का परिणाम है।

Related Posts: