mp3भोपाल,  प्रदेश में किसानों की फसल खराब होने पर राहत फसल की उत्पादकता के आधार पर दी जाएगी. इसे केवल वर्षा की कमी से सम्बद्ध नहीं किया जाएगा.

यह निर्णय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में सम्पन्न कृषि केबिनेट की बैठक में लिया गया. बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि प्राकृतिक आपदा की स्थिति में अल्पावधि फसल ऋ ण को मध्यावधि ऋण में परिवर्तन किए जाने पर नाबार्ड से पुनर्वित्त प्राप्त करने के लिए अपेक्स बैंक को दी जाने वाली गारंटी में नाबार्ड के प्रस्ताव अनुसार एक बार संशोधन किया जाए. श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में सूखे के संकट से जूझ रहे किसानों को राहत पहुँचाने के सारे उपाय किए जा रहे हैं. किसानों को हुए नुकसान की वास्तविक स्थिति के आकलन के लिए आगामी 25 से 27 अक्टूबर तक प्रदेश के सभी मंत्री भी अपने प्रभार के जिलों के गाँव में जायेंगे और किसानों से चौपाल पर बैठकर चर्चा करेंगे.

Related Posts:

लवर ब्वॉय नहीं बनूंगा-शाहिद
क्रिकेट विश्व कप 2015 के दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 95 रनों से ह...
बीएसएनएल पर पूरी रात फ्री में बात
पर्यटन के लिए मप्र आने पर 40 फीसदी छूट मिलेगी उप्र के लोगों को
गोटमार मेले में दिनभर होती रही पत्थरों की बरसात, 650 से अधिक घायल, 6 गंभीर
केन्द्र जम्मू कश्मीर की मदद को तैयार : मोदी