प्रवासी सांसद सम्मेलन

  • पीएम मोदी का चीन पर निशाना
  • पीआईओ के संसदीय सम्मेलन को किया संबोधित
  • भारत पर विश्व की सोच बदली
  • 124 सांसद और 23 देशों के 17 मेयर ले रहे हैं भाग

नई दिल्ली,

प्रत्यक्ष तौर पर चीन पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि संसाधनों के दोहन के लिए भारत की नजर दूसरे देशों की धरती पर नहीं है. भारतीय मूल के लोगों (पीआईओ) के संसदीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने यह बातें कही.

मोदी की यह टिप्पणी चीन के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में निवेश पर भारत की कड़ी आपत्ति के बीच आई है. चीन पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में सड़क और बिजली परियोजनाओं का निर्माण कर रहा है.

यह पहला पीआईओ संसदीय सम्मेलन है, जो चाणक्यपुरी के प्रवासी भारतीय केंद्र में आयोजित हो रहा है. उन्होंने कहा, 21वीं सदी की जरूरतों पर ध्यान देते हुए सरकार प्रौद्योगिकी, परिवहन में निवेश बढ़ा रही है.

मोदी ने विदेशों में बसे भारतीयों के वहां की भू-राजनीति को प्रभावित करने और नीतियां बनाने में उनके योगदान के लिए उनकी सराहना की. मोदी ने कहा, हमें गर्व महसूस होता है. यदि मैं राजनीति के बारे में बात करूं तो मैं देख रहा हूं कि भारतीय मूल के लोगों की एक छोटी संसद हमारे समक्ष बैठी है. मैं कल्पना कर सकता हूं कि आपके पूर्वज आप को यहां बैठा हुआ देखकर कितना खुश होंगे.

मॉरीशस के सांसद ने गाया भोजपुरी गीत

कॉन्फ्रेंस में शामिल होने मॉरिशस के सांसद उरी गोकरन दिल्ली पहुंचे. गोकरन ने कॉन्फ्रेंस के दौरान भोजपुरी गाना गाकर समा बांध दिया. उनके गाने का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है.बता दें कि मॉरीशस की आधी आबादी भोजपुरी भाषी है.

हमारे लोगों की सोच, मकसद और आकांक्षा हमेशा ऊंची रही है और यही वजह है कि देश में बदलाव हो रहा है. विश्व बैंक, आईएमएफ, मूडी भारत की तरफ सकारात्मक नजर से देख रहे हैं.
-पीएम मोदी

Related Posts: