raimaबॉलीवुड अभिनेत्री राइमा सेन का मानना है कि बिना किसी सहारे के बॉलीवुड में उन संघर्ष करने वालों के लिए बना रहना मुश्किल है, जो अपने करियर के लिए केवल फिल्म उद्योग पर ही निर्भर रहते हैं. अभिनेत्री मुनमुन सेन की बेटी और सुचित्रा सेन की पोती राइमा ने कहा कि मैंने अपने बॉलीवुड के सफर के दौरान कभी भी असुरिक्षत महसूस नहीं किया, क्योंकि मैं जानती थी कि यदि मुझे कोई परेशानी आती है, तो मेरी मदद के लिए हमेशा मेरा परिवार रहेगा.

राइमा ने बताया, ”अच्छा काम पाने का जोखिम वहां कई लोगों में है. एक्टिंग मेरे लिए जुनून है इसलिये इसके लिए मैं अपने परिवार के सहारे नहीं रहती. इसलिए मेरे लिए यह आसान है, लेकिन अन्य महिलाओं के लिए यह आसान नहीं हो सकता है.. समर्थन के तौर पर मेरे लिए बंगाली सिनेमा भी है”

36 साल की अभिनेत्री ने कहा, ”मैं अब भी संघर्ष कर रही हूं. इतने सालों के बाद संघर्ष आज भी समाप्त नहीं हुआ है. एक वक्त था, जब मैं बिना काम के दो-तीन साल घर में बैठी रही. यह आसान नहीं था.” उन्होंने बताया, ”यदि मुझे मुंबई में कुछ नहीं मिलता है, तो मैं वापस जा सकती हूं. लेकिन जो यहां किसी सहारे के बिना आये हुए हैं और उन्हें अपने परिवार की मदद भी करनी है तथा इसे अपने पेशे के रूप में चुना है, तो मेरा मानना है कि यह उनके लिए कठिन है. काफी संघर्ष है.”

Related Posts: