नयी दिल्ली , सरकार ने शहरों में कुशल कामगारों को 25000 रुपए तक प्रति माह न्यूनतम वेतन सुनिश्चित करने के लिए घरेलू सहायक सेवा प्रदाता निजी कंपनी अर्बनक्लैप के साथ एक करार किया है।
केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी की मौजूदगी में मंत्रालय ने आज यहां अर्बनक्लैप के साथ एक करार पर हस्ताक्षर किये।

यह कंपनी शहरी गरीबों को रोजगार और न्यूनतम वेतन प्राप्ति में घरेलू कुशल कामगारों की मदद करेगी।
शुरू में यह करार देश के 16 शहरों में लागू होगा।इन शहरों में दिल्ली, गुरूग्राम, फरीदाबाद,गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, पुणे, ग्रेटर मुंबई, नवीं मुंबई, ठाणे, कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद, सिकंदराबाद, बेंगलुरू और अहमदाबाद शामिल हैं।

इस अवसर पर श्री पुरी ने कहा कि यह करार पांच लाख से ज्यादा की आबादी वाले सभी शहरों में लागू किया जाना चाहिए।‘दीन दयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन’ के तहत किये गये इस करार से लोगों के जीवन स्तर में इजाफा होगा और कौशल युक्त लोगों को सम्मानजनक वेतन मिल सकेगा।

अगले पांच वर्ष तक प्रभावी होने वाले इस करार के तहत अर्बनक्लैप घरेलू कामगारों और सहायकों की मांग के अनुरुप अकुशल कामगारों अौर कुशल कामगारों की आपूर्ति करेगी।
अर्बनक्लैप शहरों में घरेलू स्तर पर काम करने वाले लाेगों के लिए 15 हजार रुपए से 25 हजार रुपए तक का वेतन सुनिश्चित करेगी।