नयी दिल्ली,

कृतज्ञ राष्ट्र ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवायी में संविधान निर्माता बाबा सहेब भीमराव अंबेडकर को आज उनके 62वें महापरिनिर्वाण दिवस पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

श्री कोविंद, उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह संसद भवन परिसर में डा. अंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्प चढ़ाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, उपाध्यक्ष एम थम्बीदुरै, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तथा गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत, राज्य मंत्री रामदास आठवले, कई अन्य मंत्रियों, सांसदों तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने भी सामाजिक न्याय के पुरोधा रहे डा. अंबेडकर को पुष्प अर्पित कर याद किया।

देश भर में उनकी स्मृति में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को याद किया जा रहा है। चौदह अप्रैल 1891 को जन्मे डा. अंबेडकर ने 1956 में आज ही के दिन महापरिनिर्वाण लिया था। स्वतंत्र भारत का संविधान बनाने में उनकी अहम भूमिका रही।

वह जीवन पर्यन्त सामाजिक न्याय तथा दलितों और वंचितों के उत्थान के लिए काम करते रहे। देश के पहले कानून मंत्री के तौर पर भी उन्होंने पिछडों और महिलाओं की बेहतरी के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए।

Related Posts: