नयी दिल्ली,  भारतीय सेना ने पाकिस्तानी जवानों द्वारा उसकी सीमा में घात लगाकर किये गये हमले को कायरतापूर्ण करार देते हुए आज इस पर कड़ा विरोध जताया तथा कहा कि इसमें अमानवीयता और क्रूरता की सभी हदें पार कर दी गयीं, सैन्य संचालन महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल ए के भट्ट ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष से हॉटलाइन पर बात की।

उन्होंने जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में कल पाकिस्तान की बार्डर एक्शन टीम के जवानों के भारतीय सीमा में आकर और घात लगाकर दो भारतीय जवानों के शव क्षत-विक्षत किये जाने का मुद्दा उठाया। उन्होंने पाकिस्तानी सैन्य अधिकारी से कहा कि इस हमले में अमानवीयता और क्रूरता की सभी हदें पार हो गयीं और इस मामले की घोर निंदा तथा इस पर कड़ी कार्रवाई की जरूरत है।

ले़ जनरल भट्ट ने कड़ा विरोध जताते हुए कहा कि पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने जब नीचतापूर्ण ढंग से भारतीय जवानों पर हमला किया तो उस समय पाकिस्तानी सेना ने नजदीकी चौकियों से मोर्टार और राकेट दागकर उन्हें पूरी तरह कवर दिया। उन्होंने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में नियंत्रण रेखा के निकट बैट टीम के प्रशिक्षण शिविरों की मौजूदगी पर भी कड़ा विरोध दर्ज कराया।

इस हमले में भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गये थे और पाकिस्तानी बैट टीम ने उनके शवों को क्षत-विक्षत कर दिया था। पाकिस्तानी सेना ने सीमा पर संघर्ष विराम उल्लंघन और भारतीय जवानों के शवों को क्षत-विक्षत किये जाने की घटनाओं से इन्कार किया है।

Related Posts: