rajiv_gandhiनई दिल्ली, 21 जुलाई. केन्द्र सरकार ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में जोर देकर कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारे किसी प्रकार की दया के पात्र नहीं हैं क्योंकि यह हत्याकांड ऐसी साजिश का नतीजा था जिसमें विदेशी नागरिकों की संलिप्तता थी।

प्रधान न्यायाधीश एचएल दत्तू की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ के समक्ष सालिसीटर जनरल रंजीत कुमार ने कहा कि हमारे पूर्व प्रधानमंत्री की इन लोगों ने हत्या कर दी थी। इनकी दया याचिका राष्ट्रपति और राज्यपाल (तमिलनाडु) ने भी अस्वीकार कर दी थी।

Related Posts:

भारत के पास एक अरब से ज्यादा दिमाग : मोदी
गड़करी दो घंटे जाम में फंसे, दिया ‘जाम फ्री’ दिल्ली का आश्वासन
सूखे से निपटने में संसाधनों की कमी का न बनाएं बहाना : सुप्रीम कोर्ट
मोदी की 38 विदेश यात्राओं का नतीजा शून्य : कांग्रेस
विदेशी निवेशकों को स्थाई निवासी का दर्जा दिया जायेगा
कानपुर देहात में फिर रेल हादसा, अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस हुई बेपटरी