kejriwalअमृतसर,  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज तड़के तीन बजे अमृतसर पहुंचकर सेवा की और यूथ मेनिफेस्टो मामले में हुई गलती के लिये दरबार साहिब में माफी मांगी। श्री केजरीवाल के साथ दिल्ली डायलाॅग कमेेटी के अध्यक्ष आशीष खेतान , एच एस फुल्का , संजय सिंह ,पंजाब के संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर, दुर्गेश पाठक और पंजाब डायलाॅग कमेेटी के अध्यक्ष कंवर संधू तथा कई नेता और कार्यकर्ता मौजूद थे ।

श्री केजरीवाल के साथ इन सभी ने तड़के ही लंगर हाॅल में बर्तन साफ किये और उसके बाद परिक्रमा की। करीब साढ़े पांच बजे से पहले उन्होंने दरबार साहिब में मत्था टेका और मैनिफेस्टो के कवर पेज के लिए माफी मांगी । उन्होंने गुरवाणी और कीर्तन सुना । सेवा और माफी के बाद में श्री केजरीवाल ने कहा कि अनजाने में हुई गलती के लिये उन्होंने माफी मांग ली है तथा सेवा करके उन्हें यहां बहुत शांति का अनुभव हो रहा है । उसके बाद वह सुबह ही विमान से दिल्ली लौट गये ।

उनका इस बार कोेर्ई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं था क्योंकि वह केवल माफी मांगने और सेवा के लिये आये थे । ज्ञातव्य है कि गत चार जुलायी को अमृतसर में जारी किये यूथ मैनिफेस्टोे से मचे सियासी बवाल से परेशान आप को अपनी गलती के लिये सिख संगत से माफी मांगनी पड़़ी और हाल मेें आप नेता एचएस फुल्का ने भी स्वर्ण मंदिर पहुंचकर सेेवा की और मांगी थी ।

घोषणापत्र के कवर पेज पर दरबार साहिब की तस्वीर के साथ पार्टी का चुनाव चिह्न झाडू दर्शाया गया था। इस पर अकाली दल, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेेटी ने गंभीर रुख लिया और श्री केजरीवाल ,श्री खेतान तथा अन्य नेताआेें के खिलाफ मामला दर्ज करने की धमकी दी थी जबकि आॅल इंडिया सिख स्टूडेंट्स फेडरेशन ने श्री खेतान के खिलाफ मामला दर्ज कराया था।