kejriwalनयी दिल्ली,  संसदीय सचिव विधेयक को राष्ट्रपति से मंजूरी न मिलने से नाराज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केेंद्र सरकार पर उनकी सरकार को काम नहीं करने देने का आरोप लगाया है।

श्री केजरीवाल ने आज कई ट्वीट कर कहा,“ श्री मोदी लोकतंत्र का सम्मान नहीं करते हैं आम आदमी पार्टी से डरते हैं।” उन्होंने 21 विधायकों की संसदीय सचिव के तौर पर नियुक्ति का बचाव करते हुये कहा,“ सभी सचिवों को राजधानी दिल्ली की जनता की सेवा का काम सौंपा गया है। किसी विधायक को कोई धन नहीं दिया जा रहा और न ही कार, न बंगला। सभी विधायक बिना पैसे लिये काम कर रहे हैं लेकिन श्री मोदी का कहना है कि सब को घर बैठना चाहिये और कोई काम नहीं करेगा।”

श्री केजरीवाल ने कहा,“ एक विधायक को बिजली के काम पर लगा रखा था, एक को पानी पे, एक को अस्पतालों पे, एक को स्कूल पे। लेकिन मोदी जी कहते हैं,ना काम करूँगा, ना करने दूँगा।”

उपराज्यपाल कार्यालय के सूत्रों ने कहा कि राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने दिल्ली सरकार के संसदीय सचिव विधेयक को नामंजूर कर दिया है जिससे आम आदमी पार्टी (आप) सरकार को करारा झटका लगा है। आप की सरकार ने अपने 21 विधायकों को संसदीय सचिव नियुक्त किया था और उनकी सदस्यता को बचाने के लिए सरकार पिछले वर्ष यह विधेयक लाई थी। राष्ट्रपति की ओर से इसे मंजूरी नहीं दिए जाने के बाद 21 विधायकों के भविष्य को लेकर संकट खड़ा हो गया है।

Related Posts: