07pic2दादरी,  केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा और भाजपा के विवादास्पद विधायक संगीत सोम के लिए मुश्किल पैदा होती दिख रही है क्योंकि उत्तर प्रदेश पुलिस ने बिसहड़ा गांव में निषेधाज्ञा का कथित तौर पर उल्लंघन करने को लेकर दोनों के खिलाफ कार्रवाई की पैरवी की है. इसी गांव में गोमांस खाने की अफवाह के बाद अखलाक नामक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.

गौतमबुद्ध नगर के जिला अधिकारी के पास दायर रिपोर्ट में भाजपा के इन दोनों नेताओं तथा बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की अनुशंसा की गई है. पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) संजय कुमार यादव ने कहा कि तीनों नेताओं के खिलाफ रिपोर्ट दायर की गई है जिन्होंने इस क्षेत्र में निषेधाज्ञा के बावजूद ग्रामीणों को संबोधित किया. नेताओं को जनता को संबोधित करने नहीं, सिर्फ पीडि़त परिवार से मुलाकात की अनुमति दी गई थी.

सोम ने बीते रविवार को कहा था कि ‘अगर निर्दोष लोगों को फंसाया गया तो वे मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम हैं.Ó केंद्रीय मंत्री शर्मा गौतमबुद्ध नगर से लोकसभा सदस्य हैं. उन्होंने पीडि़त परिवार के घर का दौरा किया था तथा इस घटना को लेकर राजनीतिक विरोधियों पर हमले करते रहे हैं. जिला अधिकारी एनपी सिंह ने कल कहा था कि वह इसको लेकर कानूनी राय ले रहे हैं कि सोम के बयान को लेकर क्या कार्रवाई की जा सकती है.

Related Posts:

15 अगस्त से शुरु होगी प्रदेश में एक साथ डायल 100 सेवा
1885 यात्रियों का जत्था अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना
भोपाल विज्ञान मेला 2016 का हुआ शुभारंभ : राजधानी के युवक ने 6 महीने में बनाई मिस...
हरियाणा में फिर तनाव
रोकना होगा प्राकृतिक संसाधनों का बेइंतहा दोहन : जावडेकर
कर्फ्यू का दायरा घाटी के कुछ शहरों और पूरे श्रीनगर जिले में बढ़ाया गया