rajnathनयी दिल्ली,  केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि उत्तराखंड में बादल फटने और उसके बाद हुए भूस्खलन से प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य के लिए राष्ट्रीय अापदा कार्रवाई बल की टीमों को भेजा गया है।

श्री सिंह ने कहा कि उत्तराखंड के पिथौरागढ़ और चमोली में बादल फटने के बाद उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत से बात कर स्थिति की जानकारी ली और कहा कि केन्द्र इस आपदा से निपटने के लिए हर संभव मदद करेगा। उन्होंने कहा कि प्रभावित क्षेत्रों में एनडीआरएफ की टीमें भेजी गयी हैं और अतिरिक्त टीमों को वहां जाने के लिए तैयार रहने को कहा गया है।

राज्य के पिथौरागढ़ और चमोली जिलों में आज बादल फटने और उसके बाद हुए भूस्खलन के कारण 20 से अधिक लोगों के मरने की आशंका है। गृह मंत्री ने आपदा पर दुख व्यक्त करते हुए इसमें मारे गये लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना जतायी है। पिथौरागढ़ की डीडीहाट तहसील के सिकोडी गांव में बादल फटने के बाद हुए भूस्खलन से कई मकान धराशायी हो गये जिनके नीचे करीब 30 लोग और 50 से ज्यादा पशु दब गये ।

आपदा विभाग के अनुसार प्रभावित क्षेत्रों में जोर-शोर से राहत कार्य चल रहा है। जिले में संचार सेवाएं बाधित हो गई हैं इसलिये वहां सेटेलाइट फ़ोन की व्यवस्था की जा रही है। भारत तिब्बत सीमा पुलिस और सशस्त्र सीमा बल की टीमों को भी राहत और बचाव के लिए भेजा जा रहा है।

Related Posts:

यौनाचार के आरोपों के बाद वित्तमंत्री राघवजी का इस्तीफा
नासिक कुंभ: आखिरी शाही स्नान में लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी
असहिष्णुता के मुद्दे पर विवादित बयान देने वाले मंत्री हटाये जायें: विपक्ष
नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया, राहुल को मिली राहत
सबरीमाला मामले में याचिका वापस लेने की अनुमति देने से इन्कार
जर्मनी ने भी पाकिस्तानी अखबार की रिपोर्ट खारिज की