20.03sag07कांग्रेस के संभागीय सम्मेलन में राष्टï्रीय महासचिव मोहन प्रकाश ने मोदी पर तंज कसे, 

सागर, 20 मार्च, नससे. प्रदेश कांग्रेस द्वारा संभागीय स्तर पर किये जा रहे खुला मंच और संभागीय सम्मेलन की श्रृंखला में आज सागर में कटरा यातायात चौकी के नजदीक आयोजित खुला मंच कार्यक्रम में कांग्रेस के राष्टï्रीय सचिव एवं प्रदेश प्रभारी मोहन प्रकाश ने कहा कि कांग्रेस को केवल मोदी एवं भाजपा ने नहीं हराया.
इसके पीछे देश दुनिया की वो शक्तियां लगी थीं, जिनका महात्मां गांधी, इंद्रा गांधी और राजीव जी की हत्या में हांथ था. क्योंकि यह भलीभांति जानते थे कि कांग्रेस ही देश को चलाने में सक्षम है. उन्होंने कहा कि पिछले दिनों हुई बेमौसम बारिश और ओलों से देश के कई राज्यों में फसलें नष्टï हो गईं, लेकिन इस पर प्रधानमंत्री का कोई बयान नहीं आया. वह केवल सैर सपाटे में व्यस्त हैं. यही हाल म.प्र. के सीएम शिवराज सिंह का है. उन्हें तो बस हर रोज अखबारों में एक फोटो अपनी छपी हुई चाहिए. श्री प्रकाश ने कहा कि फोटो के लिए अगर कोई कहे तो शिवराज अर्थी में शामिल हो जाएं. भले ही ये पता न हो है वह किसकी.

उन्होंने संभाग के कांग्रेसजनों से 23 मार्च से शुरू होने वाले गांव चलो घर चलो अभियान में पूरी तरह जुटने की अपील करते हुए कहा कि यह वोट मांगने का कार्यक्रम नहीं है. बल्कि महनतकश किसान और नौजवान जो इन सरकारों में बेबस है, उसके साथ खड़े होकर उसके आंसू पौंछने का काम करना है. उन्होंने कहा कि देश की एडीए सरकार से जो आशा जनता ने लगाई थी वह नौ माह में ही धूल धुसरित हो गई. उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान मोदी और भाजपा नेताओं ने भाषणों की भीषण बिरयानी खिलाई. उन्होंने कहा कि यूपीए की 10 वर्षों की सरकार ने गरीब और किसानों के लिए जो कानूनी अधिकार दिये. मोदी सरकार एक-एक कर उन्हें खत्म कर रही है. संसद में मनरेगा की खिल्ली उड़ाने पर श्री प्रकाश ने कहा कि इस पर पीएम को शर्म आनी चाहिए. उन्होंने गरीबों को दिये गये संवैधानिक अधिकारी की खिल्ली उड़ाकर असंवैधानिक कार्य किया है. कांग्रेस गरीब किसानों की लड़ाई संसद से सड़क तक लड़ेगी. उन्होंने कहा कि अब कहीं प्राची तो कहीं साक्षी जी कुछ भी बोल रहे हैं. लेकिन पिछले 10 वर्ष तक ये विद्वान कहा थे. लवजिहाद और घर वापसी आखिर देश में यह क्या हो रहा है. उन्होंने कहा कि देश को बनाने में उनका कोई योगदान नहीं.

जम्मू के कटरा और अरूणांचल में रेल लाईन का उद्घाटन, मंगल यान और अग्नि मिसाईल के प्रक्षेपण के बाद मोदी वैज्ञानिकों के साथ फोटो खिचवाते हैं और बाहर कहते हैं कि पिछले 60 वर्षों में कुछ नहीं हुआ. इतने बड़े प्रौजेक्ट रातों रात पूरे नहीं होते. जब देश आजाद हुआ तब पहला बजट 100 करोड़ का था. जो अब वर्तमान में 16 हजार करोड़ का है फिर भी यह पूछते हैं कि 60 वर्ष में क्या हुआ. उन्होंने कहा कि इन दिनों इलैक्ट्रॉनिक व पिं्रट मीडिया के अलावा सोशल मीडिया की चर्चा है, लेकिन यह सबसे ज्यादा अनसोशल है. इसके अलावा माऊथ मीडिया है.

उन्होंने कहा कि मुह से कही बात के असर का कोई मुकाबला नहीं है. कांग्रेसजन भी अब अपनी चुप्पी तोड़ें और जनता के बीच जाकर मुह खोलें और भाजपा का असली चहरा उनके सामने रखें. सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरूण यादव ने कहा कि 23 से 31 मार्च तक पूरे प्रदेश में गांव चलो घर चलो अभियान चलेगा, जिसमें प्रत्येक कांग्रेसजन हर घर पर दस्तक देगा और प्रदेश की गरीब किसान विरोधी भाजपा सरकार का असली चहरा जनता के समक्ष रखेगा. उन्होंने कहा कि अभियान को चलाने की जिम्मेदारी जिला एवं ब्लॉक स्तर के संगठन की है जो सबको साथ जोड़कर इसे सफल बनायेंगे. उन्होंने कहा कि सागर में एस्सेल लगातार बड़े हुए विद्युत बिल जनता से वसूल रही है. हमारा सवाल है कि आखिर बिजली का निजीकरण क्यों किया जा रहा है. पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं वरिष्ठï नेता अजय सिंह राहुल ने कहा कि कभी बुंदेलखण्ड कांग्रेस का गढ़ माना जाता था. अब यहां हम चंद लोगों में सिमटकर रह गये हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेसी एक दूसरे की टांग खीचना बंद करें. उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश कांग्रेस द्वारा दिया गया. गांव चलो घर चलो अभियान केवल नारा बनकर न रह जाये. श्री सिंह ने मुख्यमंत्री को सबसे बड़ा झूठा बताते हुए कहा कि पिछले वर्ष हुई आपदा की राहत राशि अब तक किसानों को नहीं बटी है. चंबल के किसान हाईकोर्ट गये थे. वहां के निर्देश के बावजूद राशि नहीं बटी. सीएम केवल किसान को गले लगाए हुए फोटो खिचाने में ही यकीन रखते हैं. पूरे प्रदेश में भ्रष्टïाचार चरम सीमा पर है. देश में ऐसा पहली बार म.प्र. में ही हुआ कि राज्यपाल पर प्रकरण दर्ज किया गया हो. व्यापम पर चर्चा करते हुए कहा कि इसमें जितना कहें उतना कम है. पिछली विधानसभा में इस पर अविश्वास प्रस्ताव लाये थे तो जो हुआ वह पूरे प्रदेश ने देखा. हाल में फिर विधानसभा में मामला उठाया तो महत्वपूर्ण बजट सत्र भी तीन दिन में निपटा दिया गया. उन्होंने कहा कि सीएम सच्चाई कब तक छिपाएंगे. एक न एक दिन तो व्यापम का फंदा फसना ही है.

Related Posts: