27ravishankarनई दिल्ली. स्पेक्ट्रम नीलामी के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि मोबाइल कॉल और अन्य फोन सेवा प्रदाता कंपनियां कॉल दरों में वृद्धि कर सकती हैं। संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस तरह की संभावना से इंकार किया है और उम्मीद जताई है कि कंपनियां कॉल दरों में कोई इजाफा नहीं करेंगी।

कंपनियों को स्पेक्ट्रम नीलामी में काफी पैसा लगाना पड़ा जिसके मद्देनजर आशंका जताई जा रही थी कि कंपनियां कॉल दरों में इजाफा कर सकती हैं। संचार मंत्री ने कहा कि टेलीकॉम कंपनियों के पास काफी पैसा है औऱ वे इस भार को वहन कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि नीलामी के बाद कॉल रेट में ज्यादा से ज्यादा 1.3 की बढोतरी हो सकती है और हमारी टेलीकॉम कंपनियां इतनी मजबूत हैं कि आसानी से इस खर्जे को मैनेज कर सकती हैं। नीलामी से खरीदे गए स्पेक्ट्रम से कंपनियों को काफी लाभ होगा औ इसका फायदा अपने ग्राहकों को भी देना चाहिए। प्रसाद ने आगे कहा कि कॉल दर बढाने का कंपनियों का फैसला मानने योग्य नहीं है।

मंत्री ने बताया कि नीलामी प्रक्रिया में पूरी पारदर्शिता बरती गई। नीलामी प्रक्रिया में सभी कंपनियों ने जबरदस्त प्रतिस्पर्धा दिखाई। साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि कंपनियां जल्द ही अपना नेटवर्क सुधार लेंगी।

प्रसाद ने कहा कि देश में 97 करोड़ से ज्यदा मोबाइल उपभोक्ता हैं और ओसतन प्रत्येक उपभोक्ता हर महीने 350 मिनट कॉल करता है। इससे हर साल कंपनियां दो लाख करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व प्राप्त करती हैं।

Related Posts: