नयी दिल्ली,  निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक का समग्र शुद्ध मुनाफा चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 34.01 प्रतिशत बढ़कर 1,266.59 करोड़ रुपये पर पहुँच गया। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में उसे 945.16 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था।

बैंक ने आज यहाँ निदेशक मंडल की बैठक के बाद बताया कि आलोच्य तिमाही में उसकी कुल आमदनी 6,950.41 करोड़ रुपये की तुलना में 10.35 फीसदी बढ़कर 7,670.04 करोड़ रुपये पर पहुँच गया।

इस दौरान बैंक की परिसंपत्ति की गुणवत्ता में भी मामूली गिरावट दर्ज की गयी है। सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) 2.01 प्रतिशत से बढ़कर 2.11 प्रतिशत (3,367.67 करोड़ रुपये) पर पहुँच गयी। शुद्ध एनपीए भी 0.85 फीसदी की तुलना में 31 दिसंबर 2016 को 0.92 फीसदी रहा।

बैंक ने बताया कि नोटबंदी के कारण दिसंबर में डेबिट के सक्रिया उपभोक्ताओं की संख्या नोटबंदी से पहले की अवधि की तुलना में 86 प्रतिशत बढ़ गयी। पहली बार मोबइल बैंकिंग का इस्तेमाल करने वालों का दैनिक औसत 108 प्रतिशत तथा नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करने वालों का 52 प्रतिशत बढ़ा। इस दौरान चेकबुक भी 2.8 प्रतिशत ज्यादा जारी किये गये।

Related Posts: