वर्षों से बंद पड़ी थी खदान, अवैध रूप से निकाल रहे थे कोयला

  • एक गंभीर

नवभारत न्यूज बैतूल,

पाथाखेड़ा की बंद कोल माइंस से कोयला निकालते समय खदान जमीन में धंस गई. इस हादसे में चार लोगों की मौत हो गई, वहीं एक गंभीर रूप से घायल है. जिसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती किया गया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्षो से बंद पड़ी सतपुड़ा टू कोयला खदान से रविवार दोपहर 1.30 बजे के आस-पास कुछ महिलायें कोयला निकालने गई थी कि अचानक खदान धंस गई. इस हादसे में चार लोगो ंकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई.

सूचना मिलते ही कोल प्रबंधक, पुलिस बल सहित जिला कलेक्टर शशांक मिश्र, एसपी डीआर तेनीवार सहित कोल माइंस का रेस्क्यू दल मौके पर पहुंचा और जेसीबी की मदद से जमीन में दबे लोगों को बाहर निकालने का कार्य प्रारंभ किया गया. करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद लोगों को बाहर निकाला गया.

लेकिन तब तक चार लोगों ने दम तोड़ दिया था, वहीं एक गंभीर रूप से घायल महिला को तत्काल पाथाखेड़ा के वेकोलि अस्पताल पहुंचाया गया, जहां से महिला को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया.

मृतकों की मृतकों की शिनाख्त नानी पवार 31 वर्ष , पायल 10 वर्ष , मीना भोरसे 32 वर्ष एवं सीलू 31 वर्ष के रूप में हुई है, वही संध्या डेहरिया 35 वर्ष घायल है. घायल श्रीमती संध्या डेहरिया के मुताबिक वह खदान में कोयला लाने के लिए गई थी, उसके अलावा वहां पर और भी महिलाएं थी जो कोयला निकाल रही थी.

Related Posts: